टोक्यो ओलंपिक पर ब्रेक

जापान के पीएम शिंजो आबे के प्रस्ताव पर आईओसी चीफ भी राजी, 2021 में आयोजन

टोक्यो - वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए और इन खेलों को स्थगित करने के वैश्विक दबाव के चलते जापान ने इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक को अब 2021 में कराने का फैसला किया है। टोक्यो ओलंपिक का आयोजन इस साल 24 जुलाई से नौ अगस्त तक होना था, लेकिन कोरोना वायरस के पूरी दुनिया को अपनी चपेट में लेने से उत्पन्न खतरे को देखते हुए जापान ने इन खेलों को स्थगित करने का फैसला किया है और इसे 2021 में कराया जाएगा। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के अध्यक्ष थॉमस बाक के साथ कॉन्फ्रेंस कॉल करने के बाद संवाददाताओं के समक्ष यह घोषणा की। आबे की इस घोषणा से दुनिया भर के खिलाडि़यों में राहत की लहर दौड़ गई है। शिंजो ने पहले ही संकेत दिया था कि इन खेलों को स्थगित किया जा सकता है, जबकि बाक ने कहा था कि इन खेलों को स्थगित करने के बारे फैसला अगले चार सप्ताह में लिया जाएगा। विश्व के 185 देशों में फैल चुके कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है और अब तक इस खतरनाक वायरस से 16462 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि करीब 375643 लोग इससे संक्रमित हुए हैं। कनाडा और आस्ट्रेलिया ने सोमवार को टोक्यो ओलंपिक से हटने की घोषणा की थी, जबकि अमरीकी ओलंपिक समिति ने मांग की थी कि टोक्यो ओलंपिक को स्थगित किया जाए। टोक्यो ओलंपिक का आयोजन 24 जुलाई से नौ अगस्त तक और टोक्यो पैरालंपिक का आयोजन 25 अगस्त छह सितंबर तक होना था। कनाडा और आस्ट्रेलिया ने साफ तौर पर कहा था कि इन खेलों को 2021 में कराया जाए, तभी वे इसमें हिस्सा ले पाएंगे।

अमरीका ने भी किया था समर्थन

वाशिंगटन - वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना के प्रकोप को देखते हुए अमरीकी ओलंपिक समिति ने मांग की थी कि इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक को स्थगित किया जाए। टोक्यो ओलंपिक का आयोजन 24 जुलाई से नौ अगस्त तक होना था, जबकि टोक्यो पैरालंपिक का आयोजन 25 अगस्त से छह सितंबर तक होना था। कनाडा और आस्ट्रेलिया टोक्यो ओलंपिक से हटने का फैसला कर चुके थे, जबकि कई अन्य देशों और खेल संगठनों ने ओलंपिक को स्थगित किए जाने की मांग की थी।  अमरीकी ओलंपिक समिति और पैरालंपिक समिति ने 2000 अमरीकी एथलीटों का सर्वेक्षण करने के बाद यह मांग की थी। अमरीकी ओलंपिक समिति और पैरालंपिक समिति ने 4000 से अधिक एथलीटों को सर्वेक्षण भेजा था कि कोरोना के प्रकोप को देखते हुए टोक्यो ओलंपिक को लेकर उनका क्या विचार है।

Related Stories: