Monday, September 16, 2019 07:35 PM

ट्रैकिंग रूट्स का बनेगा डिजिटल मैप

बैठक के दौरान डीसी राकेश प्रजापति ने सभी उपमंडलाधिकारियों एवं वन विभाग के अधिकारियों को दिए निर्देश 

धर्मशाला    -उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि ट्रैकिंग रूट्स का डिजिटल मैप तैयार किया जाएगा। इसके लिए सभी उपमंडलाधिकारियों एवं वन विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं।  बुधवार को डीसी कार्यालय परिसर के सभागार में आयोजित जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त ने कहा कि ट्रैकिंग का पंजीकरण भी जरूरी किया जाएगा। इसके लिए पंजीकरण प्वाइंट भी निर्धारित करने के लिए उपमंडलाधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं, जिससे ट्रैकर्स का ब्यौरा प्रशासन के पास मौजूद रहे। उपायुक्त ने कहा कि बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्यों की सुचारू मॉनिटरिंग की जाए तथा प्रभावित परिवारों को राहत राशि तुरंत प्रदान की जाए। इस बाबत नियमित तौर पर जिला प्रशासन को रिपोर्ट देना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन की दृष्टि से सुरक्षित निर्माण कार्य पर विशेष बल दिया जाएगा। इसके लिए मिस्त्रियों के लिए ट्रेनिंग कार्यक्रम का प्लान भी तैयार किया गया है। इसमें आपदा प्रबंधन विशेषज्ञ मिस्त्रियों को भूकंपरोधी भवन निर्माण के बारे में विस्तार से प्रशिक्षित करेंगे,  जिससे आपदा की स्थिति में भवन सुरक्षित रहें। उन्होंने कहा कि आपदा की दृष्टि से संवेदनशील भवनों को चिन्हित तथा खाली करवाने के लिए उचित कदम उठाए जाएं। इसके साथ ही असुरक्षित घोषित स्कूलों के भवनों को तुरंत डिस्मेंटल करने के लिए भी कारगर कदम उठाए जाएं।

हर उपमंडल में हेलिपैड को तलाशें जमीन

उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि आपदा प्रबंधन के दृष्टिगत प्रत्येक उपमंडल में एक-एक हेलिपैड के लिए भी भूमि चयनित करने के दिशा निर्देश उपमंडलाधिकारियों को दिए गए हैं, जिससे आपात समय में चौपर इत्यादि की लैडिंग के लिए बेहतर सुविधा मिल सके। उन्होंने कहा कि हेलिपैड के लिए भूमि चयनित करने के पश्चात हेलिपैड विकसित करने का प्लान भी समय पर तैयार किया जाए। इस अवसर पर एडीएम मस्त राम, सभी उमपंडलों के उपंडलाधिकारी व डीएफओ डा. संजीव कुमार सहित लोक निर्माण विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।