Monday, December 16, 2019 05:54 AM

ठियोग-हाटकोटी सड़क खराब

ठियोग -ब्लाक कांग्रेस कमेटी कोटखाई के मीडिया प्रभारी उमेश सुमन ने कहा है कि ऊपरी शिमला के सेब उत्पादक क्षेत्रों को जोडने वाली एकमात्र ठियोग हाटकोटी सड़क की खराब हालत के चलते बागबानों को अपने माल को मंडियों तक पहुंचाने में बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने यहां पर जारी एक ब्यान में कहा है कि सड़कों की हालत दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है लोग जान जोखिम में डालकर सफर कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला की सड़कों की हालत बेहद खराब है लेकिन प्रदेश सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है। उमेश सुमन ने कहा कि इन दिनों पट्टी ढांक व निहारी के पास सड़क बार-बार दलदल हो रही है, लेकिन सरकार इसमें कोई कदम नहीं उठा रही है। उन्होंने कहा कि ठियोग से हाटकोटी के बीच कंपनी ने जिन क्षेत्रों में टारिंग अधूरी छोड़ी है वहीं से वाहनों को निकालने में बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि ठियोग हाटकोटी सड़क में जगह-जगह ल्हासे गिरे होने के कारण दुर्घटना को अंदेशा बना रहता है। जिससे लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि स्थानीय विधायक नरेंद्र बरागटा खुद बागबान हैं इसके बावजूद प्रदेश सरकार इस विषय को लेकर गंभीर नहीं है। उन्होंने स्थानीय जुब्बल कोटखाई के विधायक नरेंद्र बरागटा पर आरेप लगाया है कि नरेंद्र बरागटा सेब क्षेत्रों के बागबानों की समस्याओं को लेकर कोई कदम नहीं उठा रहे हैं और न ही सरकार से सड़कों के रखरखाव को लेकर धन का प्रावधान कर रहे हैं। उमेश सुमन ने आरोप लगाया कि प्रदेश में सरकार नाम कोई चीज नहीं है। उन्होंने नरेंद्र बरागटा पर आरोप लगाया कि जुब्बल कोटखाई की सड़कों की दुर्दशा साफ दिखाई दे रही है। उन्होंने मांग की है कि प्रदेश सरकार सड़कों की हालत में जल्द सुधार किया जाए जिससे कि बागबान अपने उत्पाद को सही समय पर मंडियों तक पहुंचा सके।