Friday, August 14, 2020 01:07 PM

डलहौजी में तिब्बतियों के घूमने से हड़कंप

डलहौजी - पर्यटन नगरी डलहौजी के बकरोटा वार्ड में तिब्बती कालोनी के तिब्बती समुदाय के लोगों के होम क्वारंटाइन करने के बावजूद बाजारों में लोगों के बीच आने से लोग दहशत में हैं। हालांकि प्रशासन की ओर से एसडीएम डलहौजी डा. मुरारी लाल तिब्बती समुदाय के वेलफेयर अधिकारी को तलब कर सभी तिब्बती लोगों को होम क्वारंटाइन में रखने की सख्त हिदायत दे चुके हैं। उन्होंने साथ ही वेलफेयर अधिकारी सहित बकरोटा वार्ड की पार्षद को तिब्बती समुदाय के लोगों की दैनिक उपयोग की वस्तुएं उन्हें कालोनी में ही उपलब्ध करवाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। एसडीएम डलहौजी ने कहा कि यदि अति आवश्यकता हो तभी तिब्बती समुदाय के एक या दो लोग बाजार आएं अथवा संबंधित वार्ड की पार्षद से संपर्क करें। उल्लेखनीय है कि तिब्बती कालोनी में तिब्बती समुदाय के चार लोग, जिनमें दो पुरुष एक महिला व एक बच्चा शामिल हैं वे 18 मार्च को ही दिल्ली से डलहौजी आए थे। इन चार लोग दिल्ली में उसी होटल में ठहरे थे, जहां कोरना वायरस से मकलोडगंज निवासी तिब्बती की मौत हुई थी। उपमंडलीय प्रशासन द्वारा इन चारों लोगों सहित डलहौजी में रह रहे तिब्बती समुदायके सभी लोगों को होम क्वारंटाइन में रखा गया है। लिहाजा होम क्वारंटाइंन तिब्बतियों के बाजारों में आने से लोगों में चिंता होना स्वभाविक है।  उधर, एसडीएम डलहौजी डा. मुरारी लाल ने बताया कि नगर परिषद को आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को खुलने से पहले और बंद होने के बाद पूरी तरह सेनेटाइज करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। एसडीएम डलहौजी ने बताया कि कि क्षेत्र में जिन प्रवासी मजदूरों आदि को जो खाने की कमी से जूझ रहे थे उन्हें भोजन उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से राधा स्वामी सत्संग ब्यास डलहौजी शाखा द्धारा दो सौ फूड पैकेट प्रशासन के माध्यम से उपलब्ध करवाए गए हैं, जिसकी आपूर्ति भविष्य में भी की जाती रहेगी।