डांस का जुनून जरूरी

डांस में करियर संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए  हमनें टीवी जज एंड कोरियोग्राफर टेरेंस लुईस से बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के मुख्य अंश...

टेरेंस लुईस , टीवी जज एंड कोरियोग्राफर

डांस को करियर के तौर पर अपनाने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए?

हर फील्ड में शैक्षणिक योग्यता जरूरी है, क्योंकि बहुत से लोग अपने आपको टेलेंटेड समझ लेते हैं तो वह एक लेवल तक काफी है। अपनी गली, मोहल्ले, स्कूल, कॉलेज में डांस के बादशाह होना अच्छी बात है, लेकिन सही दूध का दूध पानी का पानी तब होता है जब आप अपनी लेवल के लोगों से टक्कर लेते हैं जब आप मैदान में उतरते हैं। इसके लिए जरूरी है आप प्रशिक्षित डांसर हों। क्योंकि शिक्षिण के मैदान  में जब आप उतरते हैं। तो वहां आपका टेलेंट दिखाई देता है।

डांसिंग में प्रशिक्षण लेने के बाद क्या बालीवुड में एंट्री हो सकती है?

टे्रनिंग लेने के बाद आपके लिए कई दरवाजे खुल जाते हैं। जब आप किसी से मिलते हैं आपकी पहचान बनती है। आपने कहां से सीखा है, जब आप बोलते हैं की हमने इस इंस्टीच्यूट से सीखा है और वह इंस्टीच्यूट , वहां  का गुरु बहुत मशहूर हैं तो लोग आपको एक मौका देते हैं। ऐसा भी नहीं है कि जिसने किसी इंस्टीच्यूट से कोर्स  नहीं किया है उसके लिए ही मौका होता है। कभी -कभी भाग्य भी साथ देता है, लेकिन मेरा यही मानना है कि किसी अच्छे इंस्टीच्यूट से कोर्स किया हो तो आपको आगे बढ़ने में आसानी मिलती है।

आपके लिहाज से डांसिंग का क्षेत्र कैसा क्षेत्र है?

बहुत ही कठिन क्षेत्र है, इस फील्ड में वह ही उतरता है जिसके सर में डांस का जुनून हो। जो लोग डांस से मिलता जुलता पैसा, सोहरत, से  इसके लिए इस फील्ड में उतरते हैं, तो  कहीं न  कहीं आप निराश हो सकते हैं। क्योंकि  इतना आसान नहीं है  इस क्षेत्र में उतरना बहुत ही मुश्किल है।  मैं यही कहूंगा कि  इस क्षेत्र में अपनी पहचान बनाने में  बहुत वक्त लगता है। अगर आप आलसी हैं तो आप इस प्रोफेशनल में मत आइए।  अगर आपके अंदर की एनर्जी, आपकी एनर्जी, आपका मिजाज है  कि जब तक डांस न करें तो आपको चैन न आए , तो कुछ हो सकता है।

डांसिंग के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए  किन-किन बातों का ख्याल रखना जरूरी है?

* बहुत जरूरी है कि आप फिट रहें

* जो कॉमर्शियल स्टाइल है उसमें आपकी रुचि है आप उसके समर्थक हैं, जो मुख्य डांसर हों, टीचर हो उनके साथ जुड़ कर आप तकनीकी चीजें  सीखें, उनको अपने जहन में उतार लें । क्योंकि गुरु बहुत जरूरी होता है। क्योंकि गुरु के साथ आपकी जर्नी चलती है, तो कहीं न कहीं आप गुरु आपको प्रेरित करते हैं और कहीं न कहीं आप उस लेवल तक पहुंचते हैं जहां वे खुद हैं क्योंकि जैसे गन्ने का रस होता है वह कई बार गन्ने की मशीन के अंदर पीस पीस कर मीठा रस निकलता है वैसे ही आपको पीसना पड़ेगा। आपको अपने खाने-पीने में भी ध्यान देना पड़ेगा, क्योंकि आपका शरीर में बहुत लचीलापन होना चाहिए। इसमें निपुणता होनी चाहिए क्योंकि आप बहुत ही ऑवर वेट होते हैं , तो सुस्त होते हैं जो एक अच्छे डांसर के लिए मुश्किल होता है। कुछ लोग ऑवर वेट के होते भी अपना लेवल तक पहुंच जाते हैं,  लेकिन अगर आपको लंबी रेस का घोड़ा बनना है तो आपको अपने शरीर का बहुत ख्याल रखना पड़ेगा।

क्या हिमाचल में इस विषय में रोजगार के अवसर हैं?

हिमाचल हो यह कोई भी प्रदेश हो डांसिंग के मामले में अब  पांच आठ सालों में बहुत रुचि हुई है लोगों में। जिस तरह से मुंबई सपोर्ट करता है डांसर कॉमर्शियल शो, शायद वह छोटे शहरों या दूसरे प्रदेशों न हो। पर यह बात मैं जरूर कहना चाहूंगा  की यह जरूरी नहीं है आपने डांसर ही बनना है अगर आपको व्यावसायिक खोलनी है  तो स्कूल, कालेज में बहुत सारे बच्चे रुचि रखते हैं तो आप वहां अपना इंस्टीच्यूट खोल सकते हैं, अपनी एकेडमी खोलते हैं तो बहुत आमदनी होती है। शायद मुंबई जैसी मार्केट न हो पर सिटी शोज होते हैं। आप चाहें छोटी मछली हों, लेकिन जब आप अपने तालाब में घूमते हैं तो आप वहां के राजा रानी बन सकते हैं। शायद आप बड़े शहर में जाकर गुम हो जाओ। वेडिंग और संगीत के कोरियोग्राफर बन सकते हैं, कोपरेट शो होते हैं, आफिस के अंदर भी डांस का शो लगाना है वह भी कर सकते हैं। कई ऐसे व्यवसाय हैं जहां आप इस फील्ड में काफी आमदनी कमा सकते हैं।

इस प्रोफेशन में पैसे कमाने की कितनी संभावनाएं हैं?

ट्रेनिंग करने के बाद जो प्रशिक्षित डांसर बनते हैं , तो कहीं- कहीं वह कंपनी या जिस इंस्टीच्यूट से आपने सीखा है आप वहां पर ज्वाइंन कर सकते हो, वहां का तुजुर्बा जो आपके पास होता है।  सीख तो आपने लिया है, लेकिन आपको तुजुर्बा भी बहुत जरूरी है। आप एक टीचर बन सकते हैं।

कितने प्रकार का होता है नृत्य ?

नृत्य कई प्रकार का होता है। और आपको उसमें डिवीजन लेना है तो एक क्लासिकल होता, क्लासिकल ट्रंडिसन होता है फोक डांस बहुत सारे होते हैं फिर एक सोशल डांस होता है जहां पर पार्टी के लिए डांस होता है जैसे हमारा बालीवुड डांसिंग। आपने तो बहुत बड़ा चैपटर खोल दिया यहां पर तो इंटरव्यू ही खत्म हो जाएगा कि कितने प्रकार का डांस है।

क्या नृत्य की सार्वभौमिक परिभाषा है?

नृत्य की सर्वभौमिक भाषा है। बिना कुछ बोले , बिना कुछ बताएं स्पेशली कंटेंपरी डांस में करता भी हूं, दिखाता भी हूं कि आप अपनी खूबसूरती को दिखाएं। जब शब्द कमजोर पड़ जाते हैं, तो अपना डांस सही तरीके से क्योरियाग्राफ किया गया हो तो लोग डांस के जरिए ही आपकी फीलिंग समझ जाते हैं।

इस क्षेत्र में किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है?

चुनौतियों का सामना आपको बस यही करना है कि  आप डांस को किस प्रकार लेते हैं।  आपको डिसीजन लेना है कि आप डांस को हावी के लिए करते हैं तो आपने हफ्ते में दो बार कर लिया या महीने में चार बार कर लिया, लेकिन आपने करियर के लिए डांस  करना है तो आपको स्पेशल ट्रेनिंग लेनी होगी। आपको पूरी डांस की एजुकेशन लेनी होगी आपको वह सभी चीजें जो आपको सीखा सकें उसके लिए एक कोर्स  की जरूरत पड़ेगी। फिर आपको हफ्ते में दो दिन नहीं हफ्ते में 5 दिन वह भी तीन-चार घंटे देने होंगे। तभी आप एक अच्छे डांसर बन सकते हैं। जो हमारा इंस्टीच्यूट है ‘टेरेंस लुईस’  प्रोफेशन इंस्टीच्यूट है।

— अनुज कुमार, सीनियर इवेंट मैनेजर

Related Stories: