Thursday, November 14, 2019 02:32 PM

डीएवी के होनहारों को सम्मान

वार्षिक समारोह के समापन अवसर पर डीएसपी ठियोग कुलविंदर सिंह ने की शिरकत

ठियोग  -ठियोग के डीएवी स्कूल में आयोजित स्कूली बच्चों के कंसर्ट कार्यकमों का शुक्रवार को विधिवत रूप से समापन हो गया है। इस कार्यक्रम में जहां विभिन्न कक्षाओं के बच्चों ने अपनी-अपनी प्रस्तुतियां देकर सभी का मन मोह लिया वहीं स्कूली बच्चों की प्रस्तुतियों से सभी ने वाहवाही लूटी।  कंसर्ट कार्यक्रम के दूसरे दिन छठी से दसवीं कक्षाओं के बच्चों द्वारा कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। समारोह में मुख्यातिथि के रूप में डीएसपी ठियोग कुलविंदर सिंह ने शिरकत की। कार्यक्रम में स्कूल के प्रधानाचार्या आरएल पाठक भी विशेष रूप से शामिल रहे। कार्यक्रम के दौरान एलकेजी से पांचवी कक्षा तक के कार्यक्रम हुए जिन्होंने विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किए। छात्रों ने मुख्यअतिथि के स्वागत में स्वागत गीत गाया और नृत्य नाटिका प्रस्तुत की। इसके अलावा सैकंेड कलास के छात्रों द्वारा प्रस्तुत गीतों पर बच्चों ने खूब तालियां बंटोरी। इसके बाद बच्चों ने कई तरह की प्रस्तुतियां देकर खूब वाहावाही लूटी। कार्यक्रम में मुख्यअतिथि डीएसपी ठियोग कुलविंदर सिंह ने कहा कि डीएवी एक ऐसी संस्था है जहां पर विद्यार्थियों का सम्पूर्ण विकास हेाता है। उन्होंने कहा कि संस्कारों से लेकर शिक्षा तक यहां विद्यार्थियों को प्रोत्साहित किया जाता है। जिससे बच्चों को अपने से बड़ों का आदर व माता-पिता तथा गुरूजनों के प्रति आदर भाव आता है। जबकि कंसर्ट कार्यक्रम में शाम के बड़ी कक्षाओं के बच्चों द्वारा कार्यक्रम पेश किए गए। इस दौरान स्कूली बच्चों ने विभिन्न बोलियों तथा प्रदेशों की लोक संस्कृति और वेशभूषा के साथ नृत्य किया गया। इस दौरान बच्चों की प्रस्तुतियों से यहां पर उपस्थित स्कूल के अध्यापकों तथा अभिभावकों को खूब मनोरंजन किया और अपने अंदर छूपी प्रतिभा को दर्शाया। स्कूली बच्चों ने फिल्मी गीतों के साथ-साथ पहाड़ी गीतों से भी हाल में बैठ लोगों का खूब मनोरंजन किया। इससे पहले सुबह के सेशन में भी इसी तरह से स्कूल में अलग-अलग प्रस्तुतियों से बच्चों ने सभी का खूब मनोरंजन किया। स्कूल के प्रधानाचार्या आरएल पाठक ने भी इस तरह के कार्यक्रमों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे बच्चों में अपने अंदर छिपी प्रतिभा जीवन में आगे बडने और किसी भी चुनौती का सामना करने की भावना जागृत होती है। श्री पाठक ने अपने संबोधन मंे कहा कि कार्यक्रम की खास बात यह है कि इसमें सभी बच्चों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका दिया जा रहा है उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में सभी बच्चों को पुरस्कृत किया गया है जिससे बच्चों का मनोबल बढ़ता है। उन्होंने कहा कि हम बच्चों में हर वो संस्कार पैदा करना चाहते हैं जिससे भविष्य में वो निर्भयता के साथ मुकाबला कर सके। उन्होंने स्कूल के भी सभी अभिभावकों तथा अध्यापकों से बच्चों में शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार देने का आग्रह किया। उन्होंने इस अवसर पर स्कूल की वार्षिक रिर्पोट भी पढ़ी जिसमें विद्यालय के मेधावी छात्रों द्वारा किए गए प्रर्दशन का उल्लेख किया गया। मंच का संचालन स्कूल के उप प्रधानाचार्या राजकुमार शर्मा व अंकुश शर्मा ने किया।