Monday, April 06, 2020 06:18 PM

डीडीयू में प्रसव सेवाएं बंद

केएनएच भेजी जा रहीं गर्भवती महिलाएं, आईजीएमसी-टांडा और नेरचौक की ओपीडी बंद

शिमला-शिमला के दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में अब प्रसव नहीं होंगे। ये प्रसव अब केएनएच में हो रहे हैं। सोमवार को भी कई महिलाएं डीडीयू से केएचएच आ रही हैं। वहीं, प्रदेश में आज से आईजीएमसी की ओपीडी भी बंद कर दी गई है। गौर हो कि कोरोना से बचने के लिए प्रदेश सरकार ने तीन अहम अस्पतालों की ओपीडी को बंद कर दिया है, जिसमें आईजीएमसी, टांडा और नेरचौक ओपीडी को बंद करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। गौर हो कि इन अस्पतालों में मरीज़ों का अकसर काफी रश रहता है लिहाजा प्रदेश सरकार ने यह फैसला लिया है। हालांकि प्रदेश सरकार ने इन तीनों अस्पतालों में कैजुअल्टी की सर्विसेज जारी रहेंगी, लेकिन अस्पतालों की जनरल ओपीडी को बंद कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक टांडा में दो पॉजिटिव आने के बाद प्रदेश सरकार ने अहम फैसला लिया है, जिसे आज से जारी कर दिया गया है, जिसमें तीन कालेज को शामिल किया गया है। ये तीनों अस्पताल ऐसे हैं जहां मरीज़ों का रश प्रतिदिन हजारों में रहता है। विभाग ने साफ किया है कि यदि कोई गंभीर बीमारी को लेकर मरीज़ आता है तो तीनों अस्पतालों में संबंधित डाक्टर द्वारा उसे चैक किया जाएगा। ये आदेश आगामी निर्देशों के तहत लागू किए जाएंगे। सामान्य ओपीडी में आने वाले मरीज़ों को राहत देने के लिए अन्य अस्पतालों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं, जिसमें अन्य अस्पतालों में भी मरीज़ों को कहा गया है कि वे जरूरत पड़ने पर अस्पताल आएं। प्रदेश सरकार ने मरीज़ों से भी यह आग्रह किया है कि वे जरूरत पड़ने पर ही अस्पताल आएं। वहीं, अन्य सभी अस्पतालों को इसलिए भी सतर्कता बरतने के लिए कहा है कि कोरोना के लक्षण को देखते हुए उसकी जानकारी तुरंत देने के लिए कहा है।