Thursday, April 18, 2019 06:05 PM

डीडीयू हास्पिटल में डाक्टर ही नहीं

शिमला—राजधानी शिमला के जिला स्तरीय अस्पताल में पिछले काफी समय से डाक्टर  व स्टाफ की कमी चल रही है। राज्य स्तरीय अस्पताल होने के नाते यहां पर दूरदराज से काफी संख्या में लोग आते हैं, लेकिन डीडीयू अस्पताल पहुुंच कर उन्हें निराशा ही मिलती है। अस्पताल प्रशासन में स्टाफ की कमी के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यदि डाक्टर छुट्टियों पर हों तो अस्पताल में इलाज के लिए आने वाले मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अधिकतर मरीजों को तो बिना इलाज करवाए वापस घर लौटना पड़ता है। वहीं, अधिकतर मरीजों  को प्राइवेट अस्पतालों में जाकर इलाज करवाना पड़ता है। हैरानी की  बात  तो यह है कि जिला स्तरीय अस्पताल होने के नाते यहां पर अधिक लोग आते ही हैं। जिला अस्पताल होने के नाते यहां पर मरीजों को हर सुविधा मिलनी चाहिए, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। यहां पर मरीज काफी उम्मीद के साथ आते है, इसका एक कारण यह भी है कि यहां अस्पताल काफी नजदीक है। बावजूद इसके मरीजों को अस्पताल पहुंच कर पता चलता है कि या तो आज डाक्टर का डे नहीं है या डाक्टर का पद रिक्त चल रहा है। इस सबंध में अस्पताल के एमएस डाक्टर लोकेंद्र शर्मा ने बताया कि कई बार सरकार के समक्ष अस्पताल में चल रही स्टाफ की कमी को जल्द पूरा करने के लिए प्रसताव दिए गए हैं, लेकिन अभी तक इस ओर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है।