Tuesday, August 20, 2019 11:29 AM

डीसी ने जाना; कहां, कितना नुकसान

रिकांगपिओ में जिलाधीश गोपाल चंद ने ली मीटिंग, पुलों-प्रोजेक्टों के साथ बिजली बोर्ड को भारी नुकसान

रिकांगपिओ-उपायुक्त किन्नौर गोपाल चन्द ने शुक्त्रवार को सभी विभागों के अध्यक्षों के साथ बैठक की । इस दौरान उन्होंने बारिश व बादल फटने के कारण सड़कों, पुलों, पेयजल व सिंचाई योजनाओं व विद्युत बोर्ड को हुए नुकसानी का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि निचार तहसील के शोलडिंग खड्ड पर एक व्यक्ति के पानी में बहने के कारण मृत्यु होने का समाचार भी प्राप्त हुआ है। जिला में लोक निर्माण विभाग के सड़कों व पुलों को दो करोड़ 57 लाख रुपए  का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि स्पीलो, लाबरंग, कानम सड़क के कराला में बाढ़ के कारण छह मीटर सड़क बह गई है और इसके अलावा अनेक स्थानों पर सड़कों को भारी क्षति हुई है। इसी तरह  भारी वर्षा के कारण ठंगी कुन्नू चारंग सड़क को भी भारी नुकसान हुआ है। इसी तरह रिब्बा गोम्पा से रिब्बा कंडा सड़क भी कई जगह क्षतिग्रस्त हुआ है। राष्ट्रीय उच्च मार्ग-पांच रिब्बा नालाए  नेसंग झूला तथा स्कीबा के निकट भारी वर्षा के कारण अवरुद्व हुआ है। जिला के तांगलिंग क्षेत्र में सात सिंचाई योजनाएं क्षतिग्रस्त हुई है, जिनका प्रारंभिक तौर पर 28 लाख का नुकसान आंका गया है। इसी तरह छह ग्रामीण रास्ते भी क्षतिग्रस्त हुए हैं, जिसका नुकसान लगभग 18 लाख आंका गया है। मूरंग तहसील में भारी वर्षा व बादल फटने के कारण नौ सिंचाई कुहलें क्षतिग्रस्त हुई है, जिसका लगभग 20 लाख का नुकसान आंका गया है। मूरंग में चार हेक्टेयर कृषि भूमि को भी भारी नुकसान पहुंचा है। मूरंग तहसील में ही बादल फटने के कारण दो घर व दो घराट आंशिक रूप से क्षतिग्रत हुए हैं, जबकि तीन दोगरी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हुई है। उन्होंने कहा कि आसरंग में ओलावृष्टि के कारण बागबानों व किसानों को हुए नुकसान को पांच लाख रुपए आंका गया है जबकि आसरंग में दो घरों को आंशिक रूप से नुकसान पहुंचा है।  उन्होंने कहा कि सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य उपमण्डल पूह के लाबरंगए कोलबार, मयूर, जोफो व यातन खरगा आदि बहाब सिंचाई योजनाओं को लगभग 60 लाख रुपए का नुकसान आंका गया है। उन्होंने कहा कि जल आपूर्ति योजना कानम, स्पीलो व सुरपू भी भारी वर्षा के कारण आई बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुई है, जिसका 20 लाख रूपये का नुकसान आंका गया है। उन्होंने कहा कि कानम में सबसे अधिक क्षति हुई है लगभग 300 बीघा भूमि पर सेब के पौधों व फसल को भारी क्षति पहुंची है। उपायुक्त ने बताया कि रिकांगपिओ सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग रिकांगपिओ में 11 जल आपूर्ति योजनाएं क्षतिग्रस्त हुई है जबकि 3 बहाव सिंचाई योजना को भी भारी नुकसान पहुंचा है, जिनका अनुमानित नुकसान लगभग 74 लाख आंका गया है। इसके अतिरिक्त लगभग 80 लाख रुपए के बाढ़ सुरक्षा कार्य भी क्षतिग्रस्त हुए हैं। इसके अतिरिक्त  सांगला,  टापरी, रिकांगपिओ आदि क्षेत्रों में विधुत विभाग को भी लगभग सात लाख रुपए का नुकसान हुआ है। उपायुक्त ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को क्षतिग्रस्त सड़कोंए पेयजल, सिंचाई योजनाओं व विद्युत आपूर्ति को तत्काल बहाल करने के निर्देश दिए हैं,।