Friday, August 14, 2020 04:18 PM

डैहर बाजार पहुंचे ग्राहक, अलर्ट हुए दुकानदार

लॉकडाउन के बाद केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा बाजार की समस्त दुकानों को कर्फ्यू में ढील देते हुए चार घंटों की छूट देते हुए खोला गया है। वहीं लगभग एक माह से ज्यादा समय के बाद एकाएक सारी दुकानें खुलने के बाद ग्राहकों ने भी बाजारों का रुख किया। जब ‘दिव्य हिमाचल’ ने डैहर के कारोबारियों व ग्राहकों से यह पूछा कि बाजार बंद रहने से उन्हें क्या-क्या दिक्कतें पेश आईं, तो ये विचार सामने आए...

खराब मोबाइल ठीक करवाया

डैहर निवासी श्वेता सोनी ने बताया कि बाजार खुले तो वे काफी लंबे समय से खराब चल रहे फोन को ठीक करवाने व अन्य आवश्यक सामान खरीदने हेतु बाजार पहुंची थीं। इस दौरान सामाजिक दूरी व मास्क के प्रयोग भी किया।

बच्चों की किताबें खरीदने आया बाजार

स्थानीय ग्राहक व निवासी अनिल गोयल ने बताया कि बच्चों की स्कूल संबंधी पाठ्यक्रम की सामग्री सहित अन्य हार्डवेयर का सामान खरीदने हेतु उन्होंने बाजार का रुख किया था।

बाजार आकर खरीदे गर्मियों के कपड़े

रामलाल ठाकुर निवासी सीहल ने बताया कि 30 दिनों से ज्यादा समय से वे लॉकडाउन में हैं। अब गर्मियों का मौसम आ गया है और गर्मियों के मौसम के रेडीमेड कपड़े खरीदने हेतु वह बाजार पहुंचे थे।

सरकार के निर्देशों का कर रहे पालन

डैहर बाजार के व्यापारी हंसराज पठानिया कहते हैं कि प्रशासन के आदेशानुसार ही वे अपनी दुकान से ग्राहकों को सामान दे रहे हैं। सामाजिक दूरी ही इस महामारी से बचाव का एकमात्र मूल मंत्र है।

ग्राहकों को दुकान के बाहर ही दे रहे सामान

डैहर बाजार के व्यापारी रमेश गुप्ता ने बताया कि वह अपनी दुकान में किसी भी ग्राहक को प्रवेश नहीं दे रहे हैं, अपितु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बीमारी से बचाव हेतु दिए गए सामाजिक दूरी बनाए रखने के मूल मंत्र का पालन करते हुए दुकान के बाहर से ही ग्राहकों को सामान दे रहे हैं।

बिना मास्क आने वालों को नहीं दे रहे राशन

डैहर बाजार के व्यापारी जितेंद्र गुप्ता कहते हैं कि वह डैहर के मुख्य चौक पर दुकान चलाते हैं। दुकान में आने वाले उन्हीं ग्राहकों को सामान दे रहे हैं, जो मास्क पहनकर व सामाजिक दूरी का पालन कर रहे हैं। प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है।