Tuesday, October 15, 2019 09:37 AM

तटीकरण योजना में चहेतों को लाभ

विधायक सतपाल रायजादा ने टेंडर्ज पर घेरी प्रदेश सरकार

ऊना - ऊना सदर विस क्षेत्र से कांग्रेस विधायक सतपाल रायजादा ने देश की सबसे बड़ी 922 करोड़ रुपए लागत की स्वां नदी तटीकरण परियोजना में बड़े पैमाने पर गोलमाल व चहेतों को लाभान्वित करने का आरोप लगाया है। ऊना में विधायक सतपाल रायजादा ने कहा कि तटीकरण परियोजना में नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। कहीं पर दो-दो खड्डों के टेंडरों को क्लब किया जा रहा है, तो कहीं पर एक ही खड्ड को चार-चार भागों में विभक्त कर टेंडर किए जा रहे हैं। उन्होंने सवाल खड़े करते हुए पूछा कि इसके पीछे कहीं किसी प्रभावशाली नेता का हाथ तो नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार इस पूरे प्रकरण की जांच करे कि किस ठेकेदार को किस नेता के संरक्षण में लाभान्वित करने का प्रयास इसके जरिए किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वां नदी तटीकरण के 19 वर्षों के इतिहास में पहली बार इस प्रकार की प्रैक्टिस अमल में लाई गई है। इससे पूरे प्रौजेक्ट की साख पर सवाल खड़े हो रहे हैं। सतपाल रायजादा ने कहा कि फ्लड डिवीजन गगरेट ने करीब 74 करोड़ रुपए की लागत वाले 10 तटीकरण कार्य को चार कार्यों में तबदील कर अपने चहेते ठेकेदारों को लाभान्वित करने का प्रयास किया है। इसमें भैरा-पंजोड़ा व अंब वाली खड्ड, कुठैड़ा जसवालां व गगरेट खड्ड, मवासिंधिया व कलोह खड्ड तथा टटेहड़ा व बड़ोह खड्ड के टेंडरों को क्लब किया गया है, जबकि 25 करोड़ लागत वाली बदोली-त्यूड़ी-लालसिंगी खड्ड के एक टेंडर को चार भागों में विभक्त कर दिया गया है। उन्होंने इन दोनो मामलों में अलग-अलग मापदंड अपनाए जाने पर सवाल खड़े किए। श्री रायजादा ने प्रदेश सरकार से इन टेंडरों को रद्द करने की मांग की।