Tuesday, March 31, 2020 05:50 PM

तड़पते रहे मरीज; न टाइम से पहुंची एंबुलेंस, अस्पताल गए तो छह में से एक भी डाक्टर नहीं।

स्वास्थ्य सुविधाओं के बड़े-बड़े दावे करने वाला सिविल अस्पताल सुजानपुर एक बार फिर जरूरत पडऩे पर फिसड्डी साबित हुआ है। आलम यह कि मौके पर न तो डॉक्टर मिले और न ही एंबुलेंस। तड़पते मरीजों को दो घंटे इंतजार करने के बाद स्वास्थ्य सुविधा और एंबुलेंस सेवा उपलब्ध हुई। दरअसल, सुजानपुर-पालमपुर रोड पर एक दोपहिया वाहन सुबह नौ बजे दुर्घटनाग्रस्त हो गया। मुख्य मार्ग पर हुई इस दुर्घटना को वहां से गुजर रहे एक स्थानीय युवक ने देखा और घायलों को सिविल अस्पताल सुजानपुर पहुंचाया, लेकिन छह डॉक्टर तैनात होने के बावजूद मौके पर एक भी डॉक्टर नहीं मिला, जिसके चलते स्थानीय लोग और घायलों के परिजन उग्र होने लगे। दस बजे के बाद एसडीएम मौके पर पहुंचीं। उन्होंने स्थिति पर काबू पाया और उच्च अधिकारी को फोन करके डॉक्टर और एंबुलेंस सेवा उपलब्ध करवाई। करीब 11 बजे ब्लॉक सुजानपुर के तहत आने वाली पीएससी चबूतरा और जंगल और बैरी से एक-एक डॉक्टर बुलाया गया, जिन्होंने घायलों का निरीक्षण करके उन्हें जिला मेडिकल कालेज रैफर किया। उधर एसडीएम शिल्पी बेक्टा ने बताया कि जब वह मौके पर पहुंचीं, तो न तो डाक्टर पाया गया और न ही रोगी वाहन। तमाम कार्रवाई कर उपायुक्त हमीरपुर को प्रेषित किया गया है और कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है