Sunday, November 18, 2018 11:02 AM

तस्कर देशों में भारत

अमरीका के राष्ट्रपति ट्रंप ने जारी की अवैध ड्रग्स बनाने वाले 21 देशों की सूची

वाशिंगटन— अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अवैध रूप से ड्रग्स बनाने और उनकी तस्करी करने वाले 21 देशों के नाम जारी किए हैं। इसमें भारत का नाम भी शामिल है। इसके अलावा अफगानिस्तान, पाकिस्तान व म्यांमार सूची में शामिल दूसरे एशियाई देश हैं। इस मौके पर ट्रंप ने कहा कि किसी देश का सूची में शामिल होना उसकी सरकार के नशीले पदार्थों की रोकथाम के प्रयासों को नहीं दर्शाता। हो सकता है कि कई देश नशे का कारोबार रोकने के लिए ठोस मेहनत कर रहे हों, लेकिन उनकी भौगोलिक, वाणिज्यिक और आर्थिक स्थितियों की वजह से ड्रग्स का उत्पादन और तस्करी लगातार जारी हो। सूची में एशियाई देशों के अलावा बहामास, बेलिज, बोलिविया, कोलंबिया, कोस्टा रिका, डोमिनिकन रिपब्लिक, इक्वाडोर, अल साल्वाडोर, ग्वाटेमाला, हैती, होंडुरास, जमैका, लाओस, मैक्सिको, निकारगुआ, पनामा, पेरू और वेनेजुएला के नाम भी शामिल हैं। ट्रंप ने कहा कि वेनेजुएला और बोलिविया जैसे देश पिछले 12 महीनों में इंटरनेशनल काउंटर-नार्कोटिक समझौते के तहत अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने में नाकाम रहे। अफगानिस्तान, मैक्सिको और कोलंबिया में भी अवैध ड्रग्स की फसलें पिछले कुछ सालों में तेजी से बढ़ी हैं। इन देशों में ड्रग्स उत्पादन सीधे तौर पर अमरीकी हितों को प्रभावित करते हैं।

अगर भारत-पाकिस्तान में बातचीत के हालात बनेे तो अमरीका होगा मददगार

ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अगर भारत और पाक के बीच रचनात्मक वार्ता की स्थितियां बनती हैं तो अमरीका ‘बेहद मददगार’ होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि अमरीका नई दिल्ली के इस रुख को समझता है कि सीमा पार आतंकवाद में ‘स्पष्ट कमी’ से ही ऐसी वार्ता के लिए भरोसा कायम होगा। दक्षिण और मध्य एशिया की उप विदेश मंत्री एलिस वेल्स ने कहा कि अमरीका, पाक के पीएम इमरान खान और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच साझा हुए सकारात्मक संदेशों का स्वागत करता है और साथ ही इसका भी स्वागत करता है कि ‘कैसे दोनों सरकारें पहले से मौजूद ढांचों चाहे वह राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तर की वार्ता हो या बस सेवा के जरिए लोगों के बीच परस्पर संवाद पर आगे बढ़ सकती हैं।