Monday, April 06, 2020 06:23 PM

तीन करोड़ से बनेगा हेलिपोर्ट

बीबीएन को जल्द मिलेगी हेलिपोर्ट की सुविधा, शिमला, चंडीगढ़, दिल्ली के लिए शुरू होगी हेलिटैक्सी सर्विसिज

नालागढ़-विश्व के मानचित्र पर फार्मा हब के रूप में उभरे औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन को जल्द ही हेलिपोर्ट की सुविधा मुहैया होगी। हेलिपोर्ट के बनने से क्षेत्र में हेलिटैक्सी सर्विसिज आरंभ हो जाएगी, जिससे लोगों सहित उद्योगपतियों को यहां आवागमन करने में जहां सुविधा होगी, वहीं समय की भी बचत होगी। उड़ान-2 के तहत बीबीएन के बरोटीवाला हेलिपैड पर यह हेलिपोर्ट बनाया जाएगा, जिसके लिए करीब तीन करोड़ रुपए का टेंडर लगाया जा चुका है और औपचारिकताएं पूर्ण करने के उपरांत इसे अवार्ड करके कार्य जोरों पर शुरू होगा। जानकारी के अनुसार औद्योगिक हब बीबीएन में जल्द ही हैली टैक्सी सेवाएं भी आरंभ हो जाएगी। हेलिपोर्ट बनने से हैली टैक्सी सेवाएं शुरू हो जाएगी। हेलिटैक्सी सेवा से शिमला व चंडीगढ़ की दूरी बहुत कम रह जाएगी और लोग सुगमता और बहुत कम समय में अपने गंतव्य तक पहुंच पाएंगे। बता दें कि उड़ान-2 के तहत हवाई सेवा देने वाले बीते वर्ष पवन हंस के वाइस प्रेजिडेंट ने औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन का दौरा करके बरोटीवाला में निर्मित हेलिपेड का भी विजिट कर संभावनाएं तलाशी थी, जिसके उपरांत अब यहां हेलिपोर्ट निर्माण के लिए करीब तीन करोड़ की लागत वाला टेंडर लगा दिया गया है। यहां से शिमला व चंडीगढ़ के लिए हेलिटैक्सी सेवा शुरू होगी, जिसके लिए बाकायदा सर्किट बनाए जाएंगे और बरोटीवाला हेलिपेड में हेलिटैक्सी सेवाएं आरंभ होगी। वर्णनीय है कि वर्ष 2003 में प्रदेश को मिले औद्योगिक पैकेज के बाद जहां उद्योगों की स्थापना हुई है, वहीं यहां हिमाचल के कोने कोने सहित देश के कई हिस्सों से यहां लोग काम की तलाश में आए है। उद्योगों की स्थापना के बाद यहां पर केंद्र सहित प्रदेश के अधिकारियों सहित वीआईपी व उद्योगपतियों का आवागमन लगा रहता है। प्रदेश की राजधानी शिमला को जाने व आने के अलावा चंडीगढ़, दिल्ली के लिए लोगों की आवाजाही लगी रहती है। बद्दी से शिमला की दूरी करीब 114 किलोमीटर है और छोटे वाहन में करीब 3ः30 घंटे लग जाते है, जबकि बस में करीब पांच घंटे का सफर है। ऐसे में हेलिटैक्सी शुरू होने से शिमला पहुंचने में करीब 20 मिनट का समय लगेगा, जिससे लोगों के समय की बचत होगी। एडीबी के एक्सईएन सोमनाथ शर्मा ने कहा कि करीब तीन करोड़ रुपए का टेंडर लगा दिया गया है, जिसकी औपचारिकताएं पूरी की जा रही है। जिला पर्यटन अधिकारी विवेक चौहान ने कहा कि हेलिपोर्ट बनने से बीबीएन से हेलिटैक्सी सेवाएं शुरू होगी, जिसका क्षेत्र के लोगों सहित उद्योगपतियों को जहां लाभ मिलेगा, वहीं पर्यटकों की भी आमद बढ़ेगी, जिससे पर्यटन के तौर पर भी बीबीएन क्षेत्र विकसित होगा।