Wednesday, April 24, 2019 06:22 AM

तीन जानें गईं, फिर भी नहीं बनी पुलिया

साहो—उटीप पंचायत के तहत साल खड्ड पर करीब एक दर्जन गांवों के लोगों की आवाजाही के लिए निर्मित पुिलया की बिगड़ी हालत से आवाजाही काफी रिस्की होकर रह गई है। इस पुलिया को पार करते वक्त अब तक तीन लोग खड्ड में गिरकर काल का ग्रास भी बन चुके हैं। साल खड्ड पर निर्मित पुलिया का फर्श उखड़ने और रेलिंग टूटी होने से रोजाना ग्रामीण व स्कूली छात्र जान जोखिम में डालकर गुजर रहे हैं। पंचायत की ओर से पुलिया की मरम्मत हेतु डाले गए प्रस्ताव को अभी मंजूरी मिलने का इंतजार है। जानकारी के अनुसार उटीप पंचायत के घान, पुखर, मनियाडा, कुम्हारका, भरैनी, हेतरू व साहलुईं के लोग व स्कूली छात्र शार्टकट रास्ता होने के चलते इस पुलिया को पार करते हैं। मगर पुलिया की बिगडी हालत के चलते साल खड्ड को पार करते वक्त लोगों की सांसे थम जा रही हैं। अभिभावक वर्ग भी पंचायत के बरौर पढ़ने जाने वाले नौनिहालों की सुरक्षा को लेकर चिंतित दिख रहे हैं। पुल का फर्श उखड़ने के कारण लकड़ी के पीस डालकर काम चलाया जा रहा है, जबकि रेलिंग काफी अरसा पहले चोरी हो चुकी है। ग्रामीणों की मानें तो साल खड्ड पर क्षतिग्रस्त पुलिया की मरम्मत न करवाई गई तो आगामी दिनों में ओर जानी नुकसान से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि अब तक पुलिया की खराब हालत के चलते तीन लोगों के बेवजह मौत के मुंह में समा चुके हैं। उन्होंने प्रशासन से जल्द पुलिया का मरम्मत कार्य करवाकर राहत पहुंचाने की गुहार लगाई है।