Wednesday, July 17, 2019 08:12 PM

तेलका में रुकवाया बाल विवाह

चंबा—चाइल्डलाइन टीम ने तेलका क्षेत्र में पुलिस के सहयोग से बाल विवाह रूकवाने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने नाबालिग के परिजनों की काउंसलिंग करने कर आगाह किया है कि अठारह वर्ष से पहले लडकी की शादी कानूनन जुर्म है। इसलिए लडकी के बालिग होने पर ही शादी करवाएं। पुलिस की काउंसलिंग के बाद लडकी के परिजनों ने अठारह वर्ष की आयु पूर्ण होने के बाद विवाह करवाने को हामी भरी। जानकारी के अनुसार चाइल्डलाइन टीम को सूचना मिली कि तेलका क्षेत्र में नाबालिग की शादी करवाई जा रही है।चाइल्डलाइन के समन्वयक कपिल शर्मा ने तुरंत हरकत में आते हुए तुरंत इसकी जानकारी एसपी चंबा और एसडीएम सलूणी को दी। एसपी चंबा डा. मोनिका भुटुंगरू ने तुरंत किहार पुलिस थाना प्रभारी संदीप पठानियां को कार्रवाई के आदेश दिए। जिस पर तेलका पुलिस चौकी प्रभारी एएसआई विक्त्रांत शर्मा की अगवाई में एक टीम को मौके पर भेजा गया। पुलिस टीम ने छानबीन में पाया कि मौडा के 22 वर्षीय युवक की शादी इलाके की सोलह वर्षीय लड़की से करवाई जा रही है। जिस पर पुलिस ने तत्परता से कार्रवाई करते हुए लडकी व लडके के परिजनों से बातचीत की। परिजनों ने पुलिस को लिखित तौर पर दिया है कि लडकी के बालिग होने पर ही वे उसकी शादी करवाएंगें। उन्होंने लडकियों को पढाने पर बल देने के साथ- साथ अठारह वर्ष की आयु पूरी होने पर ही शादी करवाने को कहा। उधर, चाइल्डलाइन के समन्वयक कपिल शर्मा ने बताया कि पुलिस के सहयोग से तेलका क्षेत्र में एक नाबालिग को बाल विवाह की बलिबेदी पर चढ़ने से बचा लिया गया है। उन्होंने सहयोग के लिए एसपी चंबा डा. मोनिका का विशेष तौर से आभार प्रकट किया है।