Monday, July 22, 2019 12:36 AM

थिरोट पंचायत सचिव सस्पेंड

केलांग—लाहुल-स्पीति की थिरोट पंचायत सचिव को ड्यूटी से नदारद रहना इसकदर महंगा पड़ा कि सोमवार को उन्हें सस्पेंड कर दिया गया। पंचायत सचिव के पंचायत घर में न आने व गत 40 दिनों से लापता होने की शिकायत स्थानीय लोगों ने स्थानीय विधायक एवं कृषि मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय से की थी। ऐसे में लाहुल दौरे पर पहुंचे मंत्री ने जहां अपने स्तर पर मामले की सच्चाई जानने का प्रयास किया, वहीं पंचायत सचिव को सोमवार को केलांग में आयोजित अधिकारियों की बैठक में भी बुलाया गया, लेकिन पंचायत सचिव उक्त बैठक में भी नहीं पहुंचे। ऐसे में कृषि मंत्री डा.रामलाल मार्कंडेय ने उक्त पंचायत सचिव को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिए। उल्लेखनीय है कि स्थानीय लोगों ने प्रशासन व कृषि मंत्री डा.रामलाल मार्कंडेय के पास यह शिकायत की थी कि गत 40 दिनों से थिरोट पंचायत घर में पंचायत सचिव नहीं आ रहे हैं, जिसके चलते लोगों को अपने कामकाज निपटाने में खासी दिक्कतों से जूझना पड़ा है। इतना ही नहीं 40 दिनों से नदारद चल रहे पंचायत सचिव के न होने से पंचायत के कई कामकाज भी अधर में लटके हुए हैं, जिससे क्षेत्र का विकास कार्य भी थम गया है। उधर, कृषि मंत्री डा.रामलाल मार्कंडेय ने कहा कि उनके पास यह शिकायत स्थानीय लोगों ने तथ्यों सहित की थी कि गत 40 दिनों से थिरोट पंचायत सचिव  बिना किसी को सूचना दिए पंचायत घर नहीं आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि भविष्य में भी अगर कोई अन्य कर्मचारी बीना सूचना दिए ड्यूटी से नदारद पाया गया, तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई करने में सरकार देरी नहीं लगाएगी।