Monday, September 16, 2019 07:36 PM

दर्जनों मकानों पर मंडराया खतरा

कालका-शिमला एनएच पर पहाडि़यों के दरकने से धर्मपुर मेें हार्डिंग वार्ड के चार घरों में पड़ी दरारें

धर्मपुर-कालका-शिमला नेशनल हाई-वे पांच पर पहाडि़यों के दरकने से दर्जनों मकानों पर खतरा मंडराया हुआ है। अधिकतर भवन धर्मपुर व जाबली क्षेत्र में है। धर्मपुर मेें हार्डिंग वार्ड के अलावा सुक्की जोहड़ी में भी दो घर हवा में लटक गए हैं। यदि जल्द पहाड़ी को रिटेन न किया गया तो यह घर कभी भी गिर सकते है। जानकारी के अनुसार बीते सप्ताह धर्मपुर के हार्डिंग वार्ड में दस घरों को खतरा मंडरा गया था। इनमे से चार घर बारिश के बाद धंसना शुरू हो गए थे और क्षतिग्रस्त हो गए है। साथ ही हार्डिंग वार्ड को बाजार से जोड़ने वाला रास्ता भी बाधित हो गया है। हार्डिंग वार्ड के बाद सुक्की जोहड़ी में भी पहाडी के दरकने से दो घरों को नुकसान हो गया है। हालांकि, इस जगह को तिरपाल से ढक दिया गया है। वहीं, जाबली स्कूल की बिल्डिंग पर भी खतरे के बादल मंडरा रहे है। पहाड़ी से बीते दो दिनों से मिट्टी गिरती जा रही है। स्कूल बिल्डिंग से एक ब्लॉक पहले ही अनसेफ घोषित कर दिया गया था। इसके बाद पुनः हुए भू-स्खलन होने के बाद शिफ्ट कर दिया गया है। लेकिन, यह पर खतरा ज्यों का त्यों बना हुआ है। बारिश के बाद धर्मपुर पंचायत के हार्डिंग वार्ड में दस घर बारिश होने के बाद यह पहाड़ी पानी के कारण धंसना शुरू हो गई थी। इस कारण चार घरों में दरारे पड़नी शुरू हो गई थी लेकिन शनिवार से लगातार हो रही बारिश के कारण पड़ी दरारों ने विकराल रूप ले लिया और अन्य भवन भी इसी तरह बने हुए है। हालांकि स्थानीय पंचायत ने इन्हें खाली करने के लिए सूचना पत्र भेजा है और यहां पर जमीन को ओर खतरा न हो इसके लिए तिरपाल से ढ़क दिया है। इस बारे ग्राम पंचायत धर्मपुर द्वारा जिला प्रशासन, एनएचएआई और फोरलेन निर्माता कंपनी को बताया है और जल्द इस पर कार्रवाई करने बारे कहा है। उधर, पहाडि़यों से मिट्टी खिसकने से अभी तक धर्मपुर, कुमारहट्टी व जाबली के दर्जनों मकानों पर संकट मंडराया हुआ है। वहीं धर्मपुर ग्राम पंचायत प्रधान  ओम प्रकाश पंवर ने बताया कि इन सभी भवनों के बारें जिला प्रशासन को अवगत करवाया गया है। इनके मुआवजे बारे मांग की गई है। जल्द ही इसमे कार्रवाई की जाएगी।