Saturday, September 21, 2019 04:25 PM

दशहरा देखने वालों का टेस्ट लेगा लंगड़ा पुल

भुंतर -जिला कुल्लू के भुंतर का लंगड़ा वेली ब्रिज अगले माह आयोजित हो रहे अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा उत्सव में आने वालों का टेस्ट लेगा। अंतरराष्ट्रीय उत्सव को लेकर जिला प्रशासन ने तैयारियां हालांकि आरंभ तो कर दी हैं, लेकिन उत्सव स्थल तक जाने के मार्गों पर लगे बैरियर किसी चुनौती से कम नहीं लग रहे हैं। लिहाजा, एक माह से कम समय के भीतर कैसे प्रशासन इससे निपटता है, इस पर सबकी नजरें टिकी हुई है। दशहरा उत्सव इस बार आठ से 14 अक्तूबर तक आयोजित हो रहा है। उत्सव के लिए सभी महकमें जमीनी स्तर पर तैयारियों में लगे हुए हैं और मेले के दौरान बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिए पसीना बहाने लगे हैं। प्रशासन के लिए सबसे बड़ी चुनौती लोगों को मेला मैदान तक पहुंचाने की रहती है और यातायात का इसके लिए विशेष प्लान हर साल तैयार होता है। लेकिन इस बार यह प्लान ही प्रशासन की टेंशन बढ़ा रहा है। कुल्लू के वेली ब्रिज के हाल ही में पानी में बह जाने से परेशान प्रशासन के लिए भुंतर के वेली से भी राहत भरी खबर नहीं है। बता दें कि सैनिक चौक से मौहल कुल्लू स्टेट हाई-वे से वाहनों के दबाब के चलते जीया रामशीला मार्ग से वाहनों को गुजारा जाता है। भुंतर के संकरे वेली ब्रिज में पिछले माह ही टांके लगे हैं और यहां से वर्तमान में एक समय में एक ही बड़े वाहन को गुजारा जाता है। इसके कारण यहां पर हर रोज घंटों का जाम लगता है। जानकारी के अनुसार लोनिवि ने भुंतर से कुल्लू तक के मार्ग पर टायरिंग करने का काम अंतिम चरण में पहुंचा दिया है तो साथ ही अखाड़ा बाजार के पुल को भी दशहरा से पहले दुरुस्त करने के दावे किए जा रहे हैं, लेकिन इसके बाबजूद इस बार चुनौती पिछले साल की तुलना में ज्यादा होगी। कुल्लू की उपायुक्त ऋचा वर्मा के अनुसार यातायात को बेहतर बनाने के लिए पूरा प्लान बनाया जा रहा है ताकि लोगों को परेशानी न हो। बहरहाल, दशहरा उत्सव के दौरान भुंतर से कुल्लू तक लोगों को पहुंचाना चुनौती होगी।