Wednesday, August 21, 2019 05:09 AM

दही-गंगाजल से भोले का अभिषेक

धौम्येश्वर मंदिर तलमेहड़ा में उमड़ा सैलाब, सावन माह के अंतिम सोमवार को 40 हजार भक्तों ने नवाया शीश

बंगाणा -उपमंडल बंगाणा के प्रसिद्ध धौम्यश्वर मंदिर तलमेहड़ा में सावन मास के अंतिम सोमवार को श्रद्धालुओं का बड़ा हुजूम देखने को मिला। हजारों की तादाद में श्रद्धालु भगवान भोलेनाथ के दरबार में नतमस्तक हुए और आशीर्वाद लिया। वैसे तो इस बार सावन मास के उपलक्ष्य पर हर दिन हजारों की तादात में श्रद्धालुओं का धौमेश्वर मंदिर में तांता लगा रहा। लेकिन विशेषकर सावन मास के सोमवार को ज्यादा महत्त्व देकर श्रद्धालु मंदिर में आते हैं। श्रद्धालुओं ने बिल्वपत्र, ओर निर्मल जल शिवलिंग पर चढ़ाकर भगवान भोलेनाथ से अपने व परिवार की मंगलकामना की। सावन मास की अंतिम धार्मिक राविवार की संध्या पर भी करीब 40 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने भोलेनाथ की महिमा का गुणगान सुना और सारी रात जागरण का हिस्सा बने। रविवार रात दस बजे तलमेहड़ा से आने बाली सड़क पूरी तरह से जाम हो चुकी थी। जिसे खुलवाने के लिए एक दर्जन पुलिस कर्मियों को तीन घंटे का समय लगा। मंदिर में माथा टेकने के लिए घंटों तक लोग कतारबद्ध खड़े रहे। आपको बता दे कि रविवार रात दस बजे से श्रद्धालुओं को कतारबद्ध मंदिर में माथा टेकने के लिए देखा गया। जो सोमबार देर शाम तक यूं ही जारी रहा। हजारों की तादात में श्रद्धालुओं ने साबन मास के अंतिम सोमवार में भगवान भोलेनाथ से आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर धौमेश्वर मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष सुखदेव, प्रधान प्रवीण शर्मा, कोषाध्यक्ष सोहन सिंह, उपाध्यक्ष रिटायर मेजर रघुबीर सिंह, सदस्य रघुबीर संगम, रमेश शास्त्री, राकेश धीमान, सुनील शर्मा, विपन साजन, बिमला देवी, कमला देवी, शोभा देवी, जसबीर सिंह, तरसेम लाल, महावीर सिंह, ज्ञान चंद के अलाबा दर्जनों सेवादारों ने अपनी सेवाएं दी।

मंदिर में सेवादलों ने लगाए भंडारे

रविवार सांय बजे से धौमेश्वर मंदिर के मुख्य द्वार पर सेवादलों द्वारा अलग-अलग व्यंजनों के भंडारे भी लगाए हुए थे। धौमेश्वर मंदिर के मुख्य द्वार पर भी बड़ी सजावट के साथ श्रद्धालुओं के लिए अलग-अलग सेवादारों ने भंडारे का आयोजन किया हुया था।

भोलेनाथ की महिमा का किया गुणगान

सावन मास की अंतिम रविवारीय धार्मिक संध्या पर पंजाब की दो बुलंद आवाजें साजन कृष्णा एवं अमृत कौर ने सारी रात भगवान भोलेनाथ की महिमा का गुणगान किया। भगवान भोले के भजनों पर श्रद्धालु खूब झूमे। इससे पूर्व पंडित अमरनाथ शर्मा ने गणेश वंदना से आगाज करते हुए शिव की महिमा के बारे में बिस्तार से जानकारी दी।