Monday, August 03, 2020 05:41 PM

दावे बड़े-बड़े! गोशाला में चारा है नहीं।

गगरेट विधानसभा क्षेत्र की एक मात्र गोशाला पण्डित हरी शाह अम्बोआ चारे के संकट से जूझ रही है। इसका संचालन गद्दीनशीन बाबा राकेश शाह की अगवाई में किया जा रहा है।वर्तमान में गोशाला में क्षमता से अधिक गोधन है, जिस वजह से गौशाला चारे के संकट से जूझ रही है।जानकारी के अनुसार गोशाला में लगभग 200 गोधन हैं और उनको प्रतिदिन दस क्विंटल तूड़ी के अलावा पांच क्विंटल हरे चारे की जरूरत है।गद्दीनशीन बाबा राकेश शाह ने बताया कि गौशाला आमजनमानस की सहायता पर आधारित है और गौशाला कमेटी को प्रतिदिन 15 क्विंटल और 450 क्विंटल जुटाना मुश्किल हो गया है। इसके इलावा सड़क दुर्घटनाओं में घायल गोधन के इलाज और दस कर्मचारियों के वेतन का खर्चा अतिरिक्त है। उन्होंने बताया कि गो रक्षा के नाम पर चुनावी वादे तो किए जाते हैं, परंतु प्रदेश सरकार से गौशाला को कोई भी आर्थिक सहायता नहीं दी जा रही।