Monday, June 01, 2020 02:32 AM

दिन-रात लोगों की सेवा में जुटे सेवक

पालमपुर-पूरी दुनिया कोरोना वायरस महामारी से ग्रसित है। संक्रमण का खतरा सबके लिए बना है। चिकित्सक, नर्स,  पैरामेडिकल स्टाफ, प्रशासन, पुलिस, सफाई कर्मचारी, मीडिया और स्वयंसेवी योद्धाओं के रूप में दिन-रात कोरोना मुक्त समाज के लिए कार्य कर रहे हैं। जिला कांगड़ा के पालमपुर उपमंडल में लॉकडाउन से प्रभावित हुए प्रवासी लोगों को राशन इत्यादि तथा हमारे कोरोना योद्धाओं की मदद के लिए भी सैकड़ों लोग आगे आए हैं। उपमंडल के राधास्वामी सत्संग परौर का भी बहुत बड़ा सहयोग कोरोना के खिलाफ  जंग के लिए प्रशासन को प्राप्त हुआ है। राधास्वामी सत्संग परौर ने विशाल सत्संग भवन संस्थागत संगरोध केंद्र के लिए दिया है। यह जिला कांगड़ा का सबसे बड़ा  केंद्र बना  हैए जिसमे  लगभग एक हजार लोगों को रखने की व्यवस्था है। यहां लगभग इतने ही शौचालय तथा स्नानघर हैं, जिससे एक दूसरे में इनके प्रयोग से संक्रमण फैलने का भी कोई खतरा नहीं है। इसके अलावा  सत्संग के सैंकड़ों सेवक महिला और पुरुष कोरोना योद्धाओं तथा इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रखें लोगों की सेवा में डटे हुए हैं। प्रतिदिन कोरोना योद्धाओं, इंस्टीच्यूशनल क्वारंटाइन में रखे लोगों के लिए तीन टाइम का पैकड पोष्टिक खाना, चाय और पानी की व्यवस्था सत्संग की ओर से की जा रही है। समाजसेवी संस्था पालमपुर सेवियर के स्वंयसेवी भी लॉकडाउन से लेकर आज तक दिन-रात अपनी सेवाएं दे रहे हैं। पालमपुर सेवियर ने लॉकडाउन और कर्फ्यू के दौरान घर-घर दवाइयां एवं अन्य जरूरत का समान लोगों के घरों तक निःस्वार्थ भावना से पहुंचाया। एसडीएम पालमपुर धर्मेश रामोत्रा ने बताया कि संकट की घड़ी में बहुत बड़ा सहयोग राधा स्वामी सत्संग परौर की ओर से मिला है। उन्होंने कहा कि  सेवक दिन -ात यहां रखे लोगों के लिए खान-पान इत्यादि की व्यवस्था में लगे हैं।