Sunday, June 16, 2019 07:20 PM

दिमागी दीमक से ग्रस्त है कांग्रेस

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कश्मीर मसले पर लगाई लताड़

 शिमला -मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस जम्मू-कश्मीर को भारत से अलग करने के सपने देखने वालों के साथ खड़ी है। कांग्रेस की सहयोगी पार्टी नेशनल कान्फ्रेंस के देशद्रोही बयानों पर राहुल गांधी की चुप्पी और पाकिस्तान मीडिया में उनकी तारीफें इस बात का सबूत हैं कि देश की सबसे पुरानी पार्टी दिमागी दीमक से ग्रस्त है। वह चाहती है कि जम्मू-कश्मीर में अलग राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री नियुक्त किया जाए, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के अभिन्न हिस्से जम्मू-कश्मीर को देशद्रोहियों और पाकिस्तान से बचाने के लिए पुरजोर प्रयास कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस जम्मू-कश्मीर में नेशनल कान्फ्रेंस के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। नेशनल कान्फ्रेंस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला खुलेआम कह रहे हैं कि जम्मू-कश्मीर में उन्हें अलग राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री चाहिए, वरना यह राज्य देश से अलग हो जाएगा। वे धमकी देते हैं कि श्रीनगर में कोई तिरंगा पकड़ने वाला भी नहीं मिलेगा। हैरानी की बात है कि कांग्रेस अध्यक्ष के नाते राहुल गांधी इन बयानों को मौन समर्थन देते रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनके मित्र उमर अब्दुल्ला एवं फारूख अब्दुल्ला ने पहले सर्जिकल स्ट्राइक और फिर पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक के सबूत मांग कर सेना के शौर्य पर सवाल उठाए थे। कांग्रेस अध्यक्ष ने भारतीय थल सेना अध्यक्ष को गुंडा भी कहा था। उनके राजनीतिक साथी अब्दुल्ला पिता-पुत्र भी लगातार सेना को जलील करते आ रहे हैं। जयराम ठाकुर का कहना है कि जम्मू-कश्मीर के एक बड़े हिस्से को जवाहर लाल नेहरू ने प्रधानमंत्री रहते हुए बड़ी आसानी से पाकिस्तान के कब्जे में जाने दिया था। अब कांग्रेस और अब्दुल्ला की पार्टी मिलकर वहां एक ऐसी व्यवस्था लाना चाहते हैं, जिससे कि यह राज्य भारत से अलग कर दिया जाए,लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसा कभी नहीं होने देंगे।