Monday, September 16, 2019 07:31 AM

दिल्ली में कांगड़ा के फौजी का मर्डर

नशे में बहसबाजी के बाद साथी जवान ने सीने में घोंपा चाकू

कांगड़ा - दिल्ली में कांगड़ा के जवान की हत्या कर दी गई है। बताया जा रहा है कि यह जवान नायक पद पर था तथा उन्हीं के साथी हवलदार ने चाकू घोंपकर हत्या कर दी। हादसे के समय बैरक में 16 जवान मौजूद थे और नायक की हत्या के बाद मौके से सबूत भी मिटा दिए गए। दिल्ली कैंट थाना पुलिस ने हत्या और सबूत मिटाने की धाराओं में मामला दर्जकर दो जवानों को गिरफ्तार किया है। नायक के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के हवाले कर दिया गया है। दक्षिण-पश्चिमी जिला डीसीपी देवेंद्र आर्या के अनुसार कांगड़ा निवासी रमेश  (52) सेना में नायक थे। उनकी तैनाती दिल्ली कैंट इलाके में थी। यहां सेना की सेंटर व्हीकल डिपो की बैरक है। 14 अगस्त की शाम बैरक में सेना के 16 जवानों के साथ नायक रमेश और हवलदार रोशन लाल (57) मौजूद थे। नायक रमेश और रोशन लाल शराब पी रहे थे। इसी दौरान दोनों में झगड़ा हो गया। तभी रोशन लाल ने चाकू उठाकर रमेश पर ताबड़तोड़ हमला शुरू कर दिया। रमेश के सीने, कंधे और सिर पर करीब एक दर्जन वार किए गए। नायक रमेश लहूलुहान होकर गिर गए और मौके पर ही उनकी मौत हो गई। हवलदार रणवीर ने इसकी जानकारी कर्नल को देते हुए बताया कि रमेश बैरक में गिरने से चोटिल हो गए हैं। उन्हें अस्पताल ले जाया जा रहा है। हवलदार रणवीर ने मौके से सबूत मिटाने की नीयत से खून आदि साफ  करवा दिया। आरोप है कि बैरक में मौजूद 16 जवानों में से किसी ने भी नायक रमेश को बचाने की कोशिश नहीं की। दिल्ली कैंट थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर हवलदार रोशन लाल को हत्या और रणवीर को सबूत मिटाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार शराब पीकर जब भी झगड़ा होता था तो नायक रमेश रोशन लाल की पिटाई कर देता था और हवलदार रोशन लाल इस बात का बदला लेना चाहता था।