Monday, August 10, 2020 10:38 AM

दिव्यांगों की समास्याओ पर किया मंथन

रिकांगपिओ-सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता विभाग द्वारा मंगलवार को किन्नौर जिला के क्षेत्रीय अस्पताल रिकांगपिओ में जिला स्तरीय अन्तर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस का आयोजन किया गया । इस दौरान जहां दिव्यांगजनो की समास्याओ पर चर्चा की गई वहीं समाज में व्याप्त नशा खोरी की समास्या पर भी गहन चर्चा की गई । जिसमें उपस्थित लोगोे ने नशे से निपटाने के लिए बहुमुल्य सुझाव दिए। जिला कल्याण अधिकारी गिरधारी लाल शर्मा ने इस अवसर पर बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा दिव्यांगजनो के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं आरंभ की गई है । उन्होने कहा कि सरकार द्वारा दिव्यांगजनों को सरकारी नौकरी में आरक्षण का प्रावधान किया गया है उन्होने कहा कि इसके लिए सरकार द्वारा समय समय पर विशेष अभियान भी चलाया जाता है ताकि लंबे समय से खाली पडे आरक्षित दिव्यांगजनो के पदे को भरा जा सके । उन्होने कहाकि प्रदेश सरकार द्वारा दिव्यांगजनो को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने का भी प्रावधान किया गया है और ऐसे दिव्यांगजन जो 70 प्रतिशत से अधिक दिव्यांग है उन्हे 1500 रुपए व 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांगजनो को 850 रुपए मासिक सामाजिक सुरक्षा पैन्शन प्रदान की जा रही है । उन्होने बताया कि विभाग द्वारा दिव्यांगजनो को पहली कक्षा से लेकर पीण्एचण्डीण् की पढाई के दौरान 625 रू0 से लेकर 5000 रुपए तक मासिक छात्रवृति प्रदान की जा रही है । दिव्यांगजनो को विभाग द्वारा दिव्यांगजनो से विवाह करने पर एक लाख रुपए तथा सामान्य जन से विवाह पर 50 हजार रुपए की अनुदान राशि प्रदान की जा रही है ।  उन्होने कहा कि समाज में व्याप्त माद्क द्रव्य व पदार्थो के सेवन की समास्या आज एक सामाजिक समास्या बन कर उभरी है । इस समास्या का निपटारा सामूहिक प्रयासो से ही किया जा सकता है । उन्होने महिला मंडलों, स्वयं सहायता समूहों व गैर सरकारी संगठनों के सदस्यो से आग्रह किया कि वें लोगो को नशीलें पदार्थो के सेवन से पड़ने वाले दुष्प्रभावों से जागरूक करे । उन्होने कहाकि पुलिस विभाग द्वारा नशे के दुष्प्रभावों के बारे मंे जानकारी देने के लिए एक एप्प व हेल्प लाइन भी आरम्भ की गई है जहां पर कोई भी व्यक्ति नशे के दुष्प्रभावो की जानकारी के  साथ साथ ऐसे व्यक्तियो की सूचना भी दे सकते है जो नशे के व्यापार में संलिप्त है। उन्होंने कहा कि ऐसे व्याक्तियों की सूचना गुप्त रखी जाती है । इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. पदम नेगीए जिला कार्यक्रम अधिकारी अर्जुन नेगी, जिला दिव्यांग संघ के प्रेम देवीए महासचिव बहादुर चंद व आंगनवाडी व अशा कार्यकर्ता भी उपस्थित थे।