Tuesday, December 07, 2021 06:04 AM

दूसरी डोज का लक्ष्य तय समय में पूरा करो

उपायुक्त राम कुमार गौतम ने सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में सुविधाओं को बढ़ाने के दिए निर्देश

दिव्य हिमाचल ब्यूरो - नाहन उपायुक्त सिरमौर राम कुमार गौतम ने स्वास्थ्य विभाग को कोविड टीकाकरण की दूसरी डोज का लक्ष्य निर्धारित समय अवधि में पूरा करने के निर्देश दिए हैं, जिसके लिए उन्होंने विभाग को विशेष कदम उठाने को कहा। उपायुक्त आज यहां स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विभाग दो प्रकार की सूचियां तैयार करें जिनमें ऐसे लोग हों जिन्हे दूसरी डोज लगने की अवधि पूरी चुकी हो तथा वो लोग जिनकी दूसरी डोज लगने की अवधि अगले 15 दिनों में पूरी होने वाली हो। उन्होंने इन सूचियों को ग्राम स्तर कि टास्क फोर्स से साझा करने के निर्देश दिए ताकि टीकाकरण के विशेष कैंप आयोजित किये जा सकें।

उन्होंने पंचायत विभाग को सभी प्रधानों और पंचायत सचिव को लोगों को लामबंद करने के निर्देश जारी करने के लिए कहा ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में जल्द से जल्द टीकाकरण का लक्ष्य पूरा किया जा सके। इससे पूर्व उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला गुणवत्ता आश्वासन समिति कि बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिला के सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में सुविधाओं को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए कहीं और न जाना पड़े। बैठक में बताया गया कि डॉ यशवंत सिंह परमार राजकीय मेडिकल कॉलेज नाहन और सिविल अस्पताल पांवटा साहिब को लक्ष्य कार्यक्रम प्रसूति गृह और प्रसूति शल्य चिकित्सा कक्ष में देखभाल की गुणवत्ता में सुधार हेतु एक पहल के तहत चयनित किया गया है। लक्ष्य कार्यक्रम के तहत इन दोनों स्वास्थ्य संस्थानों में प्रसूति गृह और प्रसूति शल्य चिकित्सा कक्ष देखभाल की गुणवत्ता में सुधार किया जायेगा।

उपायुक्त ने कायाकल्प योजना के तहत प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का भी कायाकल्प करने के निर्देश दिए ताकि जिला के स्वास्थ्य संस्थानों को और सुन्दर बनाया जा सके। उन्होंने सिविल अस्पताल पांवटा साहिब और सराहां का भी कायाकल्प करने के निर्देश दिए। उपायुक्त ने स्वास्थ्य संस्थानों को जैव चिकित्सा अपशिष्ट का सही तरीके से निष्पादन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को स्वास्थ्य संस्थानों के आसपास औद्योगिक इकाइयों और इमारतों से होने वाले ध्वनि प्रदूषण की जांच करने को कहा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संजीव सहगल व अन्य उपस्थित रहे।