Saturday, November 17, 2018 12:01 AM

देवियों के दर उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

भरवाई —प्रसिद्ध शक्तिपीठ चिंतपूर्णी में श्रद्धालु दिल खोलकर चढ़ावा चढ़ा रहा हैं। देश ही नहीं बल्कि विदेशी भक्त भी चढ़ावा चढ़ा रहे हैं। मंदिर न्यास को अब तक सावन अष्टमी मेला के दौरान 97 लाख 92 हजार 852 रुपए की राशि नकद चढ़ावे के रूप में मिल चुकी है। वहीं, 94 ग्राम सोना और आठ किलोग्राम 208 ग्राम चांदी का चढ़ावा मां के चरणों में चढ़ा है। रविवार को अंतिम मेला होने के चलते श्रद्धालुओं की और अधिक भीड़ उमड़ने की संभावना है। पहले नवरात्र मेला के दौरान भी रविवार को श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी थी। पहले नवरात्र पर 16 लाख 83 हजार 960 रुपए नकद, 10 ग्राम सोना, 750 ग्राम चांदी, दूसरे नवरात्र पर 15 लाख 28 हजार 947 रुपए नकद, 29 ग्राम सोना, एक किलोग्राम 870 ग्राम चांदी, तीसरे नवरात्र पर 13 लाख 11 हजार, 947 रुपए नकद, 10 ग्राम सोना, 970 ग्राम चांदी, चौथे नवरात्र पर 17 लाख, 62 हजार, 119 रुपए नकद, सोना एक किलोग्राम 270 ग्राम, पांचवें नवरात्र पर 16 लाख 38 हजार, 948 रुपए नकद, 25 ग्राम सोना, एक किलोग्राम 280 ग्राम चांदी, छठे नवरात्र पर 18 लाख, 67 हजार, 731 रुपए नकद, 20 ग्राम चांदी, दो किलोग्राम 68 ग्राम चांदी का चढ़ावा मिला है। वहीं, विदेशी मुद्रा के रूप में मंदिर न्यास को 12 अगस्त को 70 यूरो, दो अमरीका डालर, 13 अगस्त को पांच अमरीका डालर, 120 कनाडा डॉलर, 10 आस्टे्रलिया डालर, 14 अगस्त को पांच यूएसए डालर, 120 कनाडा डालर, 10 आस्ट्रेलिया डालर, 15 अगस्त को 20 इंग्लैंड डॉलर, 80 यूरो, 10 कनाडा डालर, 16 अगस्त को तीन यूएसए, 15 कनाडा डालर, चार सिंगापुर, 15 यूएई, 20 इंग्लैंड, 17 अगस्त को 45 यूएई, 15 इंग्लैंड, एक ओमान रियाल, 18 अगस्त को 50 कनाडा डालर, 15 इंग्लैंड, 50 यूरो, 12 यूरो डालर चढ़ावे के रूप में मिले हैं। चिंतपूर्णी में शनिवार को करीब 40 हजार श्रद्धालुओं ने मां के दर्शन कर परिवार सुख-समृद्धि की कामना की। चिंतपूर्णी क्षेत्र मां के जयकारों से गूंजा रहा। इस दिन श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी हुई थी। इस दिन भी मंदिर न्यास को लाखों की राशि चढ़ावे के रूप में मिली है।

 तीन लाख श्रद्धालुओं ने किए दर्शन

सावन अष्टमी मेला के दौरान अब तक करीब तीन लाख श्रद्धालु मां के दर्शन कर चुके हैं। प्रदेश के अलावा अन्य बाहरी राज्यों के श्रद्धालु मां के दर्शनों के लिए पहुंच रहे हैं। हर रोज करीब 35 से 40 हजार श्रद्धालु चिंतपूर्णी पहुंच रहे हैं। इन श्रद्धालुओं की सुविधा का ध्यान भी मंदिर न्यास की ओर से रखा जा रहा है।