Friday, November 16, 2018 11:17 PM

दौलतपुर चौक अस्पताल खुद बीमार 

दौलतपुर चौक —नगर पंचायत दौलतपुर चौक अस्पताल सुविधाओं के अभाव के चलते खुद बीमार पड़ा है। जिससे मरीजों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार अस्पताल की अल्ट्रासाउंड मशीन खराब होने के चलते अल्ट्रासाउंड कक्ष पर ताला लटका हुआ है और गर्भवती महिलाओं को अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए मजबूरन या तो 50 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय ऊना अथवा पंजाब का रुख करना पड़ रहा है। जिससे जो अल्ट्रासाउंड टेस्ट दौलतपुर चौक में फ्री होने की सुविधा मिलनी थी, उसके लिए काफी पैसा खर्चना पड़ रहा जिससे गरीब जनता खासी परेशान है। इसके अतिरिक्त एक्स-रे मशीन एक साल से खराब पड़ी हुई है। एमर्जेंसी में एक्स-रे न होने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अल्ट्रासाउंड और एक्स-रे मशीन तो इतने समय में ठीक न हुई परंतु तीन महीने से अस्पताल की लैब में लगा एनालाइजर खराब पड़ा है, जिससे अस्पताल में टेस्ट नहीं हो रहे। मरीज महंगे दामों पर निजी लैब्स में टेस्ट करवाने को मजबूर हैं। स्थानीय लोगों विकास चंद, रमेश जसवाल, राजिंद्र शर्मा, रविकुमार, संजय इत्यादि ने बताया कि दौलतपुर चौक अस्पताल में चिकित्सक एवं अन्य स्टाफ पूरा होने की वजह से 150-200 के बीच प्रतिदिन ओपीडी है। लगभग 30-40 गांवों के लोग सस्ते और अच्छे इलाज की चाह में दौलतपुर चौक अस्तपताल पहुंचते हंै, परंतु जब एक्स-रे,अल्ट्रासाउंड और एनालाइजर इत्यादि की सुविधा नहीं मिलती तो लोग निराश होते हैं। एमर्जेंसी में जब उपरोक्त सुविधाएं नहीं मिलती तो लोगों को इधर-उधर भटकना पड़ता है और उनके हाथ-पांव फूलने लगते हैं। साथ ही प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार द्वारा स्वास्थ्य योजनाओं पर जो करोड़ों रुपए खर्चे जा रहे हंै वो फिजूलखर्ची ही साबित हो रहे हैं, क्योंकि अगर कर्मचारियों के होते हुए भी लैब टेस्ट अथवा अन्य कार्य नहीं होंगे तो तर्कसंगत नहीं। उन्होंने स्थानीय विधायक और स्वास्थ्य मंत्री से आग्रह किया है कि दौलतपुर चौक अस्तपताल में अल्ट्रासाउंड, एक्स-रे और एनालाइजर जैसी  जो बेशकीमती मशीनें धूल फांक रही हैं उन्हें जनहित में अधिमान देते हुए तुरंत ठीक करवाया जाए। उधर सीएमओ ऊना डा. रमन कुमार ने बताया कि दौलतपुर चौक अस्पताल में खराब पड़ी अल्ट्रासाउंड, एक्स-रे और एनालाइजर मशीन का मामला उनके ध्यान में आया है। उन्हें शीघ्र ठीक करवाया जाएगा, ताकि रोगियों को सुविधा मिल सके।