द्रविड़ ने दिखाया सफलता का रास्ता

नई दिल्ली - स्ट्रोक्स भले ही विराट कोहली की तरह हों, लेकिन क्रिकेट के प्रति शुभमन गिल का रवैया राहुल द्रविड़ से प्रभावित है। द्रविड़ ने इस युवा खिलाड़ी को हर हालत में अपने स्वाभाविक खेल पर डटे रहने की सलाह दी है। दो सप्ताह बाद 20 बरस के होने जा रहे गिल सिर्फं दो वनडे खेलने के बावजूद चर्चा में बने हुए हैं। पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम में उनका चयन नहीं होने पर हैरानी जताई थी। इस महीने की शुरुआत में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में दोहरा शतक जड़ने वाले सबसे युवा भारतीय क्रिकेटर बने गिल ने कहा कि राहुल सर भारतीय अंडर-19 टीम और फिर भारत-ए के समय से मेरे कोच हैं। उनसे सबसे अच्छी सलाह जो मुझे मिली, उन्हें मैं हमेशा जेहन में रखता हूं। वह कहते थे कि हालात कुछ भी हो, मुझे अपना स्वाभाविक खेल नहीं बदलना है। उन्होंने कहा कि मैं वेस्टइंडीज ए के खिलाफ दोहरे शतक को लाल गेंद के क्रिकेट से अपनी सर्वश्रेष्ठ पारी कहूंगा। स्वाभाविक खेल दिखाने पर भी अनुकूल नतीजे नहीं मिले तो, यह पूछने पर उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि यदि तकनीकी रूप से मुझे मजबूत बनना है, तो अपने बेसिक खेल के भीतर ही सारे बदलाव होने चाहिए। गिल ने कहा कि राहुल सर ने मुझसे कहा कि यदि मैंने अपना खेल बदला, तो वह स्वाभाविक नहीं होगा और उससे सफलता नहीं मिलेगी।

Related Stories: