Monday, August 26, 2019 10:03 AM

धर्मपुर की ग्राम सभा में हंगामा

हरोली—हरेाली क्षेत्र की धर्मपुर ग्राम पंचायत के आम इजलास में बीपीएल चयन को लेकर जमकर हंगामा हुआ। स्थानीय लोगों ने ग्राम पंचायत प्रधान व सचिव पर मनमर्जी से अमीरजादों को बीपीएल में शामिल करने के आरोप लगाए हैं। इन आरोपों के चलते पंचायत की ग्राम सभा में बखेड़ा खड़ा हो गया। आक्रोशित ग्रामीणों ने पंचायत प्रधान के लड़के का नाम बीपीएल चयन में लेने पर अपनी कड़ी आपत्ति जाहिर की। जिसके चलते लोगों ने एकत्रित होकर ग्राम सभा के सर्वे चयन पर अंगुली उठाई। तनाव के चलते कुछ समय तक ग्राम पंचायत की कार्रवाई भी प्रभावित रही। स्थानीय ग्रामीणों में गुरदयाल सिंह, राजीव शर्मा, जसबंत सिंह, सुभाष सिंह आदि ने आरोप लगाया कि ग्रामसभा में बीपीएल के चयन में पारदर्शिता नहीं बरती जा रही है। ऐसे लोगों को शामिल किया जा रहा है जिनके पास गाडि़यां व आलीशान मकान हंै। ऐसे ही रसूखदार लोगों को बीपीएल में शामिल किया जा रहा है, जहां तक कि प्रधान के बेटे का चयन भी बीपीएल में हो रहा है। जिस पर उन्होंने कड़ी आपत्ति जाहिर की। लोगों के बढ़ते हंगामे के बीच पंचायत प्रधान के बेटे का नाम नए बीपीएल सर्वे से बाहर कर दिया गया। तब जाकर ग्राम सभा का माहौल कुछ शांत हुआ। इस दौरान कोरम पूरा होने पर बीपीएल परिवार के पुराने 16 परिवारों के नाम काटकर नए 16 परिवारों का चयन किया गया। दस लोगों का चयन बुढ़ापा पेंशन के लिए किया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पांच लोगों का चयन हुआ। इस मौके पर पंचायत प्रधान गोविंद राम ने कहा कि ग्राम पंचायत धर्मपुर का कोरम पूरा हो गया है। कुछ लोगों ने बीपीएल चयन आदि को लेकर अपनी आपत्तियां जाहिर की थीं, जिन्हें दूर कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग बीपीएल सर्वे को गांव में खत्म करने की दलीलें दे रहे थे। जिन्हें अस्वीकार कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि गांव में गरीब परिवारों के उत्थान के लिए बीपीएल उत्थान योजना को स्थानीय लोगों के हित में पहले की तरह बरकरार रखा जाएगा। वहीं पंचायत सचिव ने कहा कि तमाम कार्रवाई लोगों की आम सहमति से हुई है।