Tuesday, August 20, 2019 01:21 PM

धर्मपुर में दस घरों को खतरा

कालका-शिमला एनएच पर फोरलेन की कटिंग से मकानों में दरारें, खाली करवा दिए चार भवन

धर्मपुर (सोलन) - कालका-शिमला नेशनल हाई-वे पांच पर धर्मपुर में फोरलेन की कटिंग दस घरों पर भारी पड़ गई है। इन घरों में दरारें पड़नी शुरू हो गई हैं। साथ ही इन घरों को जाने वाला रास्ता भी पूरी तरह से खराब हो गया है। बता दें कि बीते वर्ष भी यहां आठ घरों पर संकट पैदा हो गया था और लोगों को बरसात में अपने मकान खाली करने पड़े थे। मंगलवार को हुई मूसलाधार बारिश के कारण ग्राम पंचायत धर्मपुर के हार्डिंग वार्ड में लगभग दस घरों में खतरा पैदा हो गया है। इनमें से चार भवन ऐसे हैं, जिनमें अधिक दरारें आ गई हैं, जिन्हें खाली करवा लिया है। वहीं, छह भवन ऐसे हैं, जिनमें दरारें पड़नी शुरू हो गई हैं। बताया जा रहा है कि पहाड़ी की कटिंग के बाद से यहां खतरा मंडराया हुआ है और पहाड़ी से लगातार भू-स्खलन हो रहा है। पिछले साल भी इसी तरह का वाकया सामने आया था और मकानों में दरारें पड़ी थी, लेकिन अब यहां खतरा और अधिक हो गया है। इससे मकानों में दरारें पड़ती जा रही हैं। हालांकि इस बारे धर्मपुर द्वारा जिला प्रशासन, एनएचएआई और फोरलेन निर्माता कंपनी को बताया है और जल्द इस पर कार्रवाई करने बारे कहा है।

...तो मचेगी भारी तबाही

धर्मपुर में पेट्रोल पंप के समीप बरसात के कारण खिसक रही पहाड़ी से मकानों में दरारें तो आ गई हैं, पर अब लोगों को और खतरा पैदा हो गया है। जिस जगह मकानों में दरारें आई हैं, ठीक उसके ऊपर आईपीएच के टैंक बने हैं, जिनमें लगातार पानी भरा रहता है, यदि इन टैंकों की नींव कमजोर हो गई, तो कभी भी तबाही मच सकती है।

काम नहीं आई सीमेंट स्प्रे

फोरलेन बनाने के लिए की गई पहाड़ी की कटिंग के बाद खतरा देखते हुए यहां सीमेंट स्प्रे किया गया था, लेकिन यह तकनीक यहां कामयाब नहीं हो पाई है और पहाड़ी के ठीक ऊपर बने भवन पूरी तरह हवा में लटक गया था। इस कारण इस भवन को जिला प्रशासन ने गिराने के आदेश भी दिए हैं, लेकिन अब अन्य घरों पर भी संकट के काले बादल मंडराने शुरू हो गए हैं।