Monday, September 16, 2019 08:09 PM

धर्मशाला में कुदरत के रखवाले बने न्यायाधीश

चीलगाड़ी में विधिक सेवा प्राधिकरण कांगड़ा के अध्यक्ष जेके शर्मा संग न्यायाधीशों ने रोपी हरियाली

धर्मशाला -पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में पर्यावरण संरक्षण के लिए न्यायपालिका ने पौधारोपण अभियान का आगाज किया। जिला एवं सत्र न्यायालय कांगड़ा स्थित धर्मशाला के सभी न्यायाधीशों ने पौधे रोपकर पौधारोपण में भाग लिया। शहीद स्मारक धर्मशाला के साथ लगते चीलगाड़ी में जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं विधिक सेवा प्राधिकरण कांगड़ा के अध्यक्ष जेके शर्मा ने अर्जुन के पौधे को रोपित किया। साथ ही उन्होंने पौधों को संरक्षित रखने का भी संदेश दिया, जिसमें जलवायु परिवर्तन के परिणामों को देखते हुए पर्यावरण संरक्षण किए जाने के लिए स्कूली छात्रों को भी जागरूक किया। उन्होंने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं और अब उन्हें ही अपना भविष्य संवारने के लिए कार्य करना होगा। उन्होंने छात्रों को प्रेरित करते हुए कहा कि पौधारोपण करने के साथ ही उन्हें संरक्षित भी रखें। इस मौके पर अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश रणजीत सिंह ठाकुर, सीजेएम कांगड़ा स्थित धर्मशाला युजवेंद्र सिंह, न्यायाधीश एवं जिला विधिक प्राधिकरण के सचिव अमित मंडयाल, न्यायिक दंडाधिकारी कनिका गुप्ता, न्यायिक दंडाधिकारी दीपिका नेगी, वन विभाग के मुख्य अरण्यपाल डीआर कौशल व  डीएफओ डा. संजीव शर्मा सहित विभाग के अधिकारी और स्कूल के बच्चों ने भी पौधारोपण किया। उक्त सभी लोगों ने जंगल मंे महत्त्वपूर्ण औषधीय पौधों संग फलदार पौधे रोपित किए, जिसमें आंवला, हरड़, बहेड़ा व अन्य फलदार और औषधीय पौधे रोपे गए। इस दौरान मौजूद लोगों ने पौधारोपण करने के साथ-साथ उन्हें संरक्षित रखने की शपथ भी ली।