Friday, October 18, 2019 12:12 PM

धर्मशाला में पॉलिटिकल टूरिस्ट

विधानसभा उपचुनाव में हाजिरी के साथ भ्रमण को पहुंच रहे बाहर से नेता

धर्मशाला     - पर्यटन नगरी धर्मशाला में इन दिनों पॉलिटिकल टूरिस्टों की बाढ़ है। प्रदेश भर से राजनीति के शौकीन उपचुनाव में अपनी उपस्थित दर्ज करवाने के लिए धर्मशाला पहुंच रहे हैं। ऐसा कांग्रेस और भाजपा दोनों दलों की ओर से चल रहा है। यूं तो राजनीतिक दलों ने इन्हें बूथ और पंचायत स्तर पर काम का जिम्मा सौंप रखा है, लेकिन अधिकतर राजनीतिक सैलानी सैर-सपाटा ही कर रहे हैं। होटल धौलाधार, पौंग व्यू व कुछ अन्य ठिकाने इन दिनों सियासी हलचल का अड्डा बने हुए हैं। सियासी टूरिस्टों की हलचल के चलते देश विदेश से आने वाले सैलानियों को पार्किंग में वाहन खड़ा करने से लेकर कई तरह की समस्याएं आ रही हैं। पर्यटन नगरी में भले ही इन दिनों पर्यटक नहीं पहुंच रहे हों, लेकिन पोलिटिकल टूरिस्ट से पर्यटन नगरी गुलजार है। प्रदेश भर के नेता और पार्टी पदाधिकारी उपचुनाव में अपनी-अपनी उपस्थित दर्ज करवाने के लिए यहां पहुंच रहे हैं। इनके कहने पर कोई वोट डाले या न डाले, लेकिन घर से लेकर धर्मशाला में उपचुनाव तक अपनी नेतागिरी दूसरों को जरूर दिखा रहे हैं। इसके लिए बाकायदा सोशल मीडिया का सहारा लिया जा रहा है। प्रत्याशी सहित पार्टी के झंडे, बैनरोंं के साथ फोटो डालने की होड़ लगी है।

वीआईपी गाडि़यां बढ़ीं

पिछले कुछ दिनों से शहर में बाहरी नंबर की चमचमाती फॉर्च्यूनर सहित अन्य वीआईपी गाडि़यों की तादाद मे इजाफा देखा गया है। बाकायदा बाहरी राज्यों के विधायक और मंत्री भी धर्मशाला की फेरियां लगा रहे हैं। इससे यही अंदाजा लगाया जा रहा है कि भाजपा हो या कांग्रेस उपचुनाव में खड़े उम्मीदवारों को रणनीति के तहत विजय दिलानी है।

जनता का उत्साह फीका

स्थानीय लोगों में त्योहारी सीजन के चलते उपचुनाव का उत्साह फीका पड़ने लगा है। प्रचार का जिम्मा संभालने वाले भी शादियों एवं दशहरे में व्यस्त हैं। स्थानीय लोग भी मौसम खुलते ही चुनाव प्रचार से हटकर अपने-अपने काम में जुट गए हैं।