Friday, December 06, 2019 09:43 PM

धारभरथा-डडराणा में पानी का संकट

स्वारघाट -सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य उपमंडल स्वारघाट के तहत उठाऊ पेयजल योजना समलेटू से जुड़े धारभरथा, डडराणा व नालियां आदि गांवों के दर्जनों परिवारों को  सर्दी के मौसम में भी पानी की बूंद-बूंद के लिए तरसना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि उपरोक्त स्कीम की मोटर और पंप खराब होने के चलते पानी की दिक्कत आ रही है। धारभरथा के ग्रामीणों राम स्वरूप, रोहित, शशिपाल, सुरेंद्र कुमार, राकेश कुमार, सुलोचना देवी, कलो देवी व मीना आदि ने बताया कि उनके गांव में पिछले एक सप्ताह से पानी नहीं आ रहा है, जिस कारण उन्हें पीने के पानी के साथ-साथ मवेशियों आदि के लिए पानी की भारी किल्लत झेलनी पड़ रही है। उपरोक्त ग्रामीणों ने बताया कि लोगों को पीने के पानी की काफी दिक्कत हो रही है, क्योंकि गांव में नजदीक में कोई भी प्राकृतिक पेयजल स्रोत नहीं है। ग्रामीणों ने बताया कि धारभरथा को गंभरपुल उठाऊ पेयजल योजना से पानी की आपूर्ति होनी थी, लेकिन यहां बने टैंक में पानी नहीं चढ़ाया गया और यह पानी काथला गांव के टैंक में डाल दिया गया है। ग्रामीणों ने बताया कि चाहे गर्मी हो बरसात हो या फिर सर्दी साल के 12 महीने गांव में पानी की दिक्कत रहती है। सबसे ज्यादा दिक्कत तब होती जब स्कीम की मोटर में कोई खराबी आ जाती है या फिर बिजली की आपूर्ति नहीं होती तो कई-कई दिन गांव में पानी नहीं आता है। ग्रामीणों का कहना है कि विभाग पुरानी मोटर और पम्प को रिपेयर करके ही काम चला रहा है, जिसके चलते आए दिन यह खराब होते रहते हंै और इस पेयजल योजना से जुड़े गांवों में पीने के पानी किल्लत रहती है। ग्रामीणों ने विभाग के उच्च अधिकारियों से इस समस्या के स्थायी हल की मांग की है, ताकि ग्रामीणों को पानी के लिए दिक्कतों का सामना न करना पड़े।