Monday, April 06, 2020 06:33 PM

धारा-144….106 लोग घाटी के पार

जेएनवी स्कूल में दो माह की छुट्टियां मिलने के बाद घर वापसी की राह ताक रहे छात्रों ने ली राहत की सांस

चंबा - कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर जेएनवी स्कूल में दो माह का अवकाश घोषित होने के बाद चंबा में घर वापसी की राह ताक रहे छात्रों के लिए बुधवार को दिन काफी राहत भरा साबित हुआ। बुधवार को चंबा से पांगी घाटी मुख्यालय के पवनहंस हेलिकाप्टर ने तीन उड़ानें भरी। इन हवाई उड़ानों के जरिए जहां 70 छात्रों ने घर वापिसी की राह पकड़ी, वहीं 35 लोग चंबा पहुंचे हैं। बुधवार को तीन हवाई उड़ानों में 71 छात्रों सहित कुल 106 घाटी के आर-पार हुए हैं। जानकारी के अनुसार, कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के चलते जेएवी स्कूल में दो माह का अवकाश घोषित कर दिया गया। मगर बर्फबारी व जेएंडके में धारा-144 लागू होने के चलते पांगी की आवाजाही के तमाम रास्ते बंद होकर रह गए हैं। इसके चलते जेएवी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे अवकाश घोषित होने के बाद भी चंबा में भी डटे हुए थे। इन छात्रों को घर वापस पहुंचाने के लिए सरकार से विशेष हवाई उड़ानें करवाने का आग्रह किया गया था। सरकार ने आग्रह को स्वीकारते हुए सोमवार को ही पवनहंस हेलिकाप्टर चंबा भेज दिया था। मगर, मंगलवार को मौसम खराब होने के चलते हेलिकाप्टर उड़ान नहीं भर पाया। बुधवार सवेरे मौसम साफ  होते ही पवनहंस हेलिकॉप्टर ने चंबा से किलाड के लिए लगातार तीन हवाई उड़ानें भरकर जेएनवी के बच्चों को घर पहुंचाया। बच्चों के सुरक्षित घर पहुंचने पर अभिभावकों ने राहत की सांस ली है। उन्होंने साथ ही बच्चों की सुविधा के लिए विशेष उड़ानें करवाने के लिए प्रदेश सरकार का आभार भी प्रकट किया है। बहरहाल, बुधवार को चंबा से पवनहंस हेलिकॉप्टर ने पांगी घाटी मुख्यालय के तीन उड़ानें भरी।