Wednesday, October 16, 2019 01:57 AM

धूल-गड्ढाें से तंग नौणी के लोग

गड्ढों पर डाली गई मिट्टी से उड़ रही धूल बनी परेशानी, ग्रामीणों ने उठाई समस्या से निजात दिलाने की मांग

बिलासपुर -चंडीगढ़-मनाली राष्ट्रीय राजमार्ग पर बिलासपुर शहर से आगे नौणी के समीप गड्ढों की भरमार हो गई है। हालांकि पीडब्ल्यूडी की ओर से गड्ढों की भरपाई के लिए कार्रवाई शुरू कर रखी है, लेकिन मिट्टी से भरे गड्ढों पर वाहनों की आवाजाही के दौरान उड़ रही धूल ने आसपास के गांवों के लोगों का जीना दुश्वार कर दिया है। ग्रामीणों मंे सरकार और संबंधित विभाग के प्रति भारी रोष व्याप्त है। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले लंबे समय से नौणी के पास सौ मीटर से ज्यादा स्पैन गड्ढों से भरा पड़ा है। हालात यह हैं कि गड्ढों के कारण वाहनों के भी कलपुर्जे टूट रहे हैं तो वहीं स्थानीय लोगों की मुश्किलें भी बढ़ती जा रही हैं। बताया जा रहा है कि पीडब्ल्यूडी द्वारा लेबर लगाई गई है और गड्ढों की भरपाई की जा रही है, लेकिन मिट्टी डालकर अपने कर्त्तव्य से इतिश्री की जा रही है। अब ग्रामीणों की दिक्कत यह है कि चूंकि एनएच वाहनों के लिहाज से बेहद व्यस्त मार्ग है जिस पर रोजाना हजारों वाहनों का दबाव है। वाहनों के गुजरते वक्त उड़ रही धूल ग्रामीणों को परेशान कर रही है और यह सिलसिला पिछले काफी समय से बरकरार है। ग्रामीणों का आरोप है कि गड्ढों को कोलतार से भरने के बजाए मिट्टी डालकर खानापूर्ति की जा रही है और यह मिट्टी की भरपाई ज्यादा दिन तक टिक भी नहीं रही। ऐसे हालात में धूल उड़ने के कारण जीना दूभर हो गया है। उन्होंने पीडब्ल्यूडी विभाग और प्रशासन से मांग की है कि जल्द ही इस समस्या से स्थायी तौर पर निजात दिलाई जाए अन्यथा ग्रामीणों को आंदोलन का रास्ता अख्तियार करने के लिए विवश होना पड़ेग, जिसकी सारी जिम्मेदारी सरकार व प्रशासन की होगी। उधर, इस संदर्भ मंे संपर्क साधने पर पीडब्ल्यूडी डिवीजन एक के अधिशाषी अभियंता ईं. वीएन पराशन ने बताया कि नौणी के पास राजमार्ग पर पड़े गड्ढों की भरपाई की जा रही है, जिसके लिए कार्य जारी है। बीच-बीच में पानी का छिड़काव भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राजामार्ग की हालत सुधारने के लिए बाईस तेईस लाख का अस्टीमेट आया है। जल्द ही आगामी कार्रवाई शुरू की जाएगी।