Monday, April 06, 2020 06:19 PM

धोखाधड़ी का मास्टरमाइंड गिरफ्तार

चंबा पुलिस से लोकेशन के आधार पर झारखंड से उठाया शातिर

चंबा-पुलिस ने खुद को बैंक अधिकारी बताकर धोखे से खाते व एटीएम के ओटीपी की जानकारी हासिल कर ग्रामीण को एक लाख 34 हजार रुपए की चपत लगाने के शातिर ठग विजय कुमार को पुलिस ने झारखंड राज्य के जामताड़ा से दबोचने में सफलता हासिल की है। पुलिस टीम आरोपी को झारखंड की अदालत से चार दिन के ट्रांजिट रिमांड पर लेने के बाद वापस चंबा लौट आई है। आरोपी को चंबा में अदालत में पेश किया जा रहा है।  चैन सिंह नामक व्यक्ति ने तीसा पुलिस थाना में शिकायत दर्ज करवाई थी कि कुछ दिन पहले उसे किसी अंजान ने मोबाइल पर संपर्क कर खुद को बैंक अधिकारी बताते हुए एटीएम को एक्टिवेट करने के लिए खाते से संबंधित जानकारी व ओटीपी प्राप्त कर लिया। चैन सिंह का कहना था कि यह जानकारी साझा करते ही खाते से एक लाख 34 हजार रुपए की नकदी आहरण होने पर उसे अपने साथ हुई ठगी का एहसास हुआ। पुलिस ने चैन सिंह की शिकायत पर भादंसं की धारा 420 के तहत मामला दर्ज कर लिया था। पुलिस अधीक्षक ने ठगी की इस वारदात के मास्टरमांइड को दबोचने के लिए मुख्य आरक्षी भजन सिंह, उमेश कुमार और साइबर सैल के आरक्षी चैन सिंह, नितेंद्र पाल व मनीष कुमार की एक विशेष टीम गठित की। इस पुलिस टीम ने संदिग्ध व्यक्ति की लोकेशन के आधार पर झारखंड राज्य में अलग-अलग जगहों पर दबिश दी। पुलिस टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद भारत के साइबर क्राइम हब कहे वाले झारखंड राज्य के जामताड़ा जिला से विजय कुमार को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया। उधर, एसपी चंबा डा. मोनिका भुटुंगरू ने मामले की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर नियमानुसार आगामी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। उन्होंने साथ ही लोगों से आह्वान किया है कि मोबाइल या लैंडलाइन फोन पर आने वाली ऐसी कालों के दौरान कोई भी निजी जानकारी शेयर न करें।