Friday, September 20, 2019 12:42 AM

नए बस स्टैंड के निर्माण की हो जांच

चंबा -चंबा जनहित संगठन के प्रधान किशोर शर्मा ने रावी नदी के मुहाने पर नियमों को ताक पर रखकर नए बस अड्डे के निर्माण की एक बार फिर जांच की मांग उठाई है। उन्होंने कहा है कि नए बस अड्डा के समीप पठानकोट एनएच पर एक बार फिर डंगा दरकने से खतरा पैदा हो गया है। उन्होंने कहा कि संगठन पहले से ही रावी नदी के किनारे बस अड्डे के निर्माण की खिलाफत करता आ रहा है। उन्होंने कहा कि नदी के मुहाने पर निर्मित नया बस अड्डा किसी भी लिहाज से सुरक्षित नहीं है। बुधवार को मुख्यालय में किशोर शर्मा ने कहा कि शहरवासी आरंभ से ही रावी नदी के किनारे बस अड्डे निर्माण के पक्ष धर नहीं थे। मगर तत्कालीन सरकार ने जनभावनाओं के विपरीत कार्य करते हुए जबरन बस अड्डे का निर्माण कर दिया था। नए बस अड्डे के समीप दूसरी बार रावी के रौद्र रूप धारण करने से काफी हिस्सा नष्ट हुआ है। उन्होंने कहा कि यह बस अडडा किसी भी दृष्टि से सुरक्षित नही हैं। उन्होंने बस अड्डा निर्माण को लेकर पूर्व सरकार की मंशा पर भी सवाल उठाए हैं। किशोर शर्मा ने कहा कि जल्द ही संगठन जल्द ही पूर्व निर्धारित जीरो प्वाइंट पर बस अड्डे के निर्माण और नए बस अड्डे की जबरन सौंपी गई सौगात के खिलाफ  हस्ताक्षर अभियान छेडे़गा और मांग पर सुनवाई न होने की सूरत में एक बड़ा जन आंदोलन खड़ा करने से भी गुरेज नहीं करेगा। इस मौके पर चंबा जनहित संगठन के संयोजक डा. शादी लाल शर्मा, डा. डीके सोनी, सुरेश कश्मीरी, शिवचरण चंद्रा, गुरचरण धीमान, पुष्प राज शर्मा, जितेंद्र अंतानी, तरुण शर्मा, अरुणा जसरोटिया, नंद किशोर वैद, हर्ष धीमान सहित कई अन्य मौजूद रहे।