Tuesday, September 17, 2019 03:48 PM

नकाबपोशों को देख घर को भागे छात्र

सुबह स्कूल जाते सामने गाड़ी से उतरे संदिग्ध, अभिभावक परेशान

चिंतपूर्णी -भरवाईं मुबारिकपुर सड़क पर थनीकपुरा के नजदीक सड़क पर स्कूल जा रहे चार बच्चों को सुबह नौ बजे के करीब उस समय उल्टे पैर घर को भागना पड़ा जब सड़क किनारे खडे़ बच्चों के समीप एक अज्ञात वैन रुकी जिसमें कुछ नकाबपोश व्यक्ति सवार थे बाहर निकले। नकाबपोश लोगों को देखते ही चारों बच्चे अपने घर की ओर भाग गए। चारों बच्चों में दो सातवीं में व दो छठी कक्षा में पढ़ते हैं। उक्त घटना शुक्रवार सुबह की बताई गई है। घर जाकर बच्चों ने इस बारे अपने परिजनों को बताया जिस पर जहां बच्चे घबराए हुए थे, वहीं इनके माता-पिता भी काफी ज्यादा डर गए हैं। स्कूल जा रहे बच्चों के नजदीक वैन को रोकने व मुहं पर नकाब लगाकर बच्चों की ओर बढ़ने की उक्त लोगों की क्या मंशा थी अभी तक इसका पता नहीं चला। इस घटना की बात क्षेत्र के सभी स्कूलों में आग की तरह फैल गई। पिछले कुछ दिनों से बच्चों को उठाने वाले गिरोहों की वीडियो व अफवाहें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिस कारण बच्चों के अभिभावकों की चिंताएं बढ़ गई हैं। उधर जिला कांगड़ा के बाथू टिप्परी में शुक्रवार सुबह के समय बच्चों को उठाने को लेकर अफवाहों का दौर गर्म रहा। लोग एक दूसरे से संपर्क कर जानकारी लेते रहे। लेकिन जौड़वड़ क्षेत्र में इस बारे कोई पुष्टि नहीं हुई है और ये मात्र अफवाह ही निकली। बच्चों के अभिभावक स्कूलों में पहुंचकर व फोन करकर स्कूल प्रबंधकों को बच्चों की सुरक्षा सुदृढ़ बनाने का भी आग्रह कर रहे हैं। स्कूल प्रबंधकों की मानें तो इस तरह की बातें उनके ध्यान में आई हंै। जिस पर स्कूल स्टाफ व बस ड्राइवरों को हर गतिविधि पर नजर रखने व बच्चों को सुरक्षित घर तक पहुंचाने व स्कूल तक लाने के सख्त आदेश दिए हैं। उधर चिंतपूर्णी थाना प्रभारी जगबीर ठाकुर ने बताया कि शुक्रवार को इस तरह की शिकायत आई थी। जिस पर पुलिस मौके पर गई थी, लेकिन ऐसा कुछ भी निकला नहीं है। पुलिस ने पैट्रोलिंग बढ़ा दी है। उधर डीएसपी अंब मनोज जम्वाल ने कहा कि थाना चिंतपूर्णी में इस घटना बारे वरवली शिकायत आई थी तथा तुरंत पुलिस ने भरवाईं चौंक में कैमरे की फुटेज को भी खंगाला था। उन्होंने कहा कि स्कूलों के आसपास सुबह व छुट्टी के समय पुलिस गश्त बढ़ा दी है तथा लोग अफवाहों पर ध्यान न दें। उधर, बच्चों के अभिभावकों अजय कुमार व सन्नी का कहना है कि वह इस घटना बारे थाना चिंतपूर्णी में शिकायत दर्ज करवाने गए थे लेकिन थाना चिंतपूर्णी में बरबली शिकायत सुनकर उन्हें सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने बारे आश्वासन देकर भेज दिया।