Sunday, November 17, 2019 04:27 PM

नगर परिषद भवन को दो करोड़

मंडी - नगर परिषद मंडी के नए बहुमंजिला कार्यालय के लिए प्रदेश सरकार ने पहली ग्रांट जारी कर दी है। सरकार ने कार्यालय के निर्माण के लिए नगर परिषद मंडी को दो करोड़ रुपए जारी किए हैं, जिसके बाद नगर परिषद के महाजन बाजार स्थित नए कार्यालय भवन के निर्माण की राह और आसान हो गई है। हालांकि नए कार्यालय भवन के शिलान्यास को अढ़ाई वर्ष से अधिक का समय पूरा हो गया है। पूर्व कांग्रेस सरकार के समय उस समय के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने 26 फरवरी, 2017 को नगर परिषद कार्यालय के नए भवन का शिलान्यास किया था। इसके बाद ड्राइंग व टीसीपी की अन्य औपचारिकताओं और कैबिनेट की मंजूरी में ही महीनों बीत गए। सरकार ने अब इस भवन के निर्माण का जिम्मा बीएसएनएल को सौंपा है। बीएसएनएल एक बार इसके निर्माण के लिए टेंडर भी लगा चुका है, लेकिन निर्माण कार्य 18 महीने में पूरा होने की शर्त के चलते ठेकेदार भवन निर्माण के लिए आगे नहीं आए हैं। बताया जा रहा है कि दूसरी बार फिर से बीएसएनएल ने नियमों में कुछ राहत देकर टेंडर लगाए हैं। जानकारी के अनुसार नगर परिषद मंडी का नया कार्यालय पुरानी ही जगह पर बनाया जाना है। यहां पर पांच मंजिला भवन का निर्माण प्रस्तावित है, जिसके निर्माण पर पांच करोड़ के लगभग का खर्च आना है, जिसमें एक करोड़ रुपए का प्रावधान नगर परिषद ने ही अपने बजट में किया है, जबकि शेष राशि सरकार ने देनी है। जिसमें दो करोड़ रुपए की पहली किस्त सरकार ने जारी भी कर दी है। हालांकि पहले चरण में पांच मंजिल की जगह सिर्फ दो मंजिल भवन ही नगर परिषद बनाने जा रही है। जबकि पहले यहां योजना दोपहिया पार्किंग के साथ ही रेहड़ी-फड़ी मार्केट और एक कामर्शियल हाल बनाने की भी थी। वहीं इस समय नगर परिषद का कार्यालय टाउनहाल में चला हुआ है। नगर परिषद मंडी के कार्यकारी अधिकारी बीआर नेगी ने बताया कि सरकार ने दो करोड़ कार्यालय भवन के निर्माण के लिए जारी कर दिए हैं। इसके काम का जिम्मा बीएसएनएल को दिया गया है। टेंडर प्रक्रिया शीघ्र पूरी होते ही निर्माण कार्यालय शुरू हो जाएगा।