Tuesday, March 31, 2020 08:10 PM

नदी-नालों के पास न जाएं

किन्नौर में प्रशासन ने जारी की एडवाइजरी, जिला में दो सप्ताह से भी अधिक समय से पड़ रही मौसम की मार

 रिकांगपिओ -किन्नौरवासी दो सप्ताह से भी अधिक समय से मौसम की मार झेल रहे है। मौसम का मिजाज ऐसा की लोगों के सामने एक के बाद एक कई मुसीबतें खड़ी हो रही है। उपायुक्त किन्नौर ने भी मौसम के मिजाज को देखते हुए लोगों की जान माल की सुरक्षा के मध्य नजर एडवाइजरी जारी करते हुए लोगों को अनावश्यक नदी नालों व खतरे वाले क्षेत्रों की और न जाने की हिदायत दी है। सड़क मार्गों पर बर्फ  होने के कारण किन्नौर जिला में बीते दो सप्ताह से भी अधिक समय से जहा अधिकांश ग्रामीण रूटों पर बसों की आवाजाही ठप पड़ी है। जिला में करीब 53 संपर्क सड़कों पर वाहन नहीं चल रही है। हालांकि विभाग ने कुछ संपर्क मार्गों पर बर्फ  हटाने के लिए मशीन लगाई गई है लेकिन आज भी करीब 53 संपर्क सड़कों पर वाहन नही चल रही है। प्रशासन ने जारी स्टेटस रिपोर्ट के। मुताबिक लोक निर्माण विभाग के 53 मार्ग बंद है। वर्तमान में पूह सब डिवीज़न में 19 संपर्क मार्ग, कल्पा व मूरंग सब डिवीजन के 12.12एकरछम सब डिवीजन के छह संपर्क मार्ग बंद है। वहीं जिला के कई क्षेत्रों में बिजली व पानी की भी बारी समस्या देखी जा रही है। लोगों को अपने अपने गंतव्य स्थानों तक जाने के लिए मीलो पैदल चलने को विवश होना पड़ रहा है। मंगलवार को रिकांगपिओ से लंबी दूरी की और चलने वाली बसों को पवारी व टापरी आदि स्थानों से चलाई गई।  किन्नौर जिला में बिजली की समस्या भी ऊपरी क्षेत्रो में देखी जा रही है। कई स्थानों पर विद्युत तारे सहित पोल बर्फबारी से क्षतिग्रस्त हुए है। तापमान में भी बारी गिरावट दर्ज होने से पेयजल लाइनों के झमने से भी लोगों के सामने पीने के पानी की भी बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। जिला मुख्यालय रिकांगपिओ में आइपीएच विभाग एक दिन छोड़ कर लोगों को पेयजल उपलब्ध करवा रही है। इस समय रिकांगपिओ में लोगो के अधिकांश निजी पाइप लाइने जम चुकी है। जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोगों के सामने पेयजल की बड़ी समस्या देखी जा रही है। इन दिनों किन्नौर जिला के ऊपरी क्षेत्रो के कुछ एक क्षेत्रो में तो न्यूनतम तापमान माइनस 20 डिग्री से भी नीचे दर्ज किया जा रहा है। ऐसे में पेयजल नलों के फ्रिज होने से पेयजल की समस्या खड़ी होना लाजमी है।