Tuesday, July 16, 2019 10:28 PM

नाबालिगों से दुराचार के केस अब नहीं दबेंगे

बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष बोलीं, दोषियों को देंगे कठोर दंड

हमीरपुर - शिक्षण संस्थानों समेत किसी भी जगह पर नाबालिगों के साथ होने वाले दुराचार के मामले अब नहीं दबेंगे। न दोषी बख्शे जाएंगे और न ही ऐसे मामलों को दबाने वाले। यह कहना है बाल अधिकार संरक्षण आयोग की नवनियुक्त अध्यक्ष वंदना योगी का। गुरुवार को हमीरपुर पहुंचने पर पत्रकारों से बातचीत में बाल संरक्षण और उनके अधिकारों के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि दोषियों को दंड मिलेगा और जनता को अवेयर भी किया जाएगा, ताकि उनके आसपास अगर बच्चों पर किसी भी तरह का अत्याचार हो रहा है तो वे खुलकर आयोग तक मामलों को पहुंचाएं। वंदना योगी ने कहा कि खासतौर पर स्कूलों में स्कूल प्रबंधन को इस बारे में दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे। इसके अलावा जो स्कूलों में सेक्सुअल हृसमेंट कमेटियां बनी हैं, उन्हें भी जागरूक किया जाएगा और कहा जाएगा कि यदि उनके ध्यान में ऐसा कोई मामला आता है या उन्हें लगाता है कि कहीं कुछ गलत हो रहा है, तो वे उसी वक्त विभाग के सहयोग से मामले को आयोग तक पहुंचाएं। आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि सड़कों पर प्रवासी बच्चों का भीख मांगना उनके ध्यान में है, जिसे रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्रों में भी खास चैक रखा जाएगा कि बच्चों को पूरी मात्रा में पौष्टिक आहार वितरित किए जा रहे हैं या नहीं। बता दें कि वंदना योगी और उनके पति योग सेंटर चलाते हैं और इनका परिवार आरएसएस से जुड़ा हुआ है। वंदना कुमारी प्रांत सेविका समिति की राज्य संपर्क प्रमुख के पद पर भी रह चुकी हैं। नादौन विधानसभा क्षेत्र के तहत पनसाई गांव की वंदना का हमीरपुर में ससुराल है।

हमीरपुर पहुंचने पर स्वागत

हमीरपुर जिला से ताल्लुक रखने वाली वंदना योगी का बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष बनने के बाद हमीरपुर पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। स्वागत करने वालों में जिला भाजपा तथा आरएसएस से जुड़े लोग शामिल थे। इस दौरान वंदना योगी ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का उन्हें यह महत्त्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपने पर आभार व्यक्त किया।