Monday, October 21, 2019 12:13 AM

नालागढ़ की पंचायतों में बिछ रहा सड़कों का जाल

नालागढ़-नालागढ़ के विधायक लखविंदर राणा ने कहा कि हलके की पंचायतों में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है और कोई भी गांव सड़कों से महरूम नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की चार गांवों की सड़कों के लिए 65 लाख रुपए की राशि मंजूर होकर इनके टेंडर हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि इनमें गोला मरूवाली निचला सड़क को पक्का करने के लिए 22 लाख, नग्गर मंदिर से कोटला तालाब तक सड़क को पक्का करने के लिए 19 लाख, कोटला से तंदीवास सड़क 14.20 लाख व मेन रोड़ बरूणा बघेरी से राजपूत बस्ती बरूणा तक 10 लाख की धनराशि स्वीकृत की गई है। उन्होंने कहा कि जल्द ही इन सड़कों के कार्य अवार्ड करके इनके काम शुरू करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास कार्यों के लिए दो करोड़, जबकि 50 लाख की राशि जरूरतमंदों व बीमार लोगों को विधायक निधि से प्रदान. की जा चुकी है और भविष्य में भी यह प्रयास जारी रहेगा। यह बात उन्होंने नालागढ़ उपमंडल की खिल्लियां पंचायत के तहत ब्राह्मण बस्ती निचली खिल्लियां से हरिजन व राजपूत बस्ती तक सड़क पक्की करने व डंगे लगाने के लिए 8.97 लाख की राशि से कार्य शुभारंभ करने के दौरान कही। इस दौरान ग्रामीणों ने विधायक का गांव में पहुंचने पर भव्य स्वागत किया। इस अवसर पर युवक मंडल खिल्लियां के प्रधान तरूण शर्मा, बीडीसी सदस्य अनिल शर्मा, हरिकृष्ण, राजेंद्र शर्मा, अरुण शर्मा, कश्मीर सिंह, अवतार सिंह, देवदत्त शर्मा, परमपाल सिंह, जोगिंद्र सिंह, दीपू, चमन लाल, महेश, श्याम लाल, प्यार लाल, पूर्व प्रधान पोहू लाल, मंगल, जोगिंद्र, प्रीतू, नरेंद्र सिंह, विजय, भगत, दाता राम, सिकंदर, मनप्रीत कौर, पोला देवी, कौशल्या देवी, कांता, समिति, जमुना देवी, रोशन लाल, लक्ष्मण, माडू़, लेखराम, अवतार सिंह, अजय व केशो आदि उपस्थित रहे। विधायक लखविंदर राणा ने कहा कि क्षेत्र में विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं है और सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में हरित क्रांति लाने के लिए पेयजल व सिंचाई योजनाओं पर काम चल रहा है, वहीं कई टयूबवैल स्थापित किए जा रहे है। उन्होंने कहा कि बीबीएनडीए के सहयोग से क्षेत्र में कई योजनाएं चलाई हुई है, वहीं विभिन्न साधनों व विभागों से योजनाएं क्रियान्वित करके हलके को मॉडल विधानसभा क्षेत्र बनाने की दिशा में भरसक काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि, जहां कच्ची सड़कें हैं, उन्हें पक्का किया जा रहा है और लोगों की मूलभूत सुविधाओं सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी की दिशा में प्राथमिकता से काम किया जा रहा है।