Tuesday, February 18, 2020 07:42 PM

निजी वाहनों में घुमाए जा रहे सैलानी

मनाली में टैक्सी आपरेटरों ने पुलिस से की शिकायात, अवैध रूप से पहुंचाए जा रहे सोलंगनाला

मनाली -मनाली में निजी वाहन चालक टैक्सी आपरेटरों के लिए सिर दर्द बन गए हैं। मनाली के स्नो प्वाइंट्स पर जहां फोर व्हील ड्राइव वाहनों से ही पहुंचा जा सकता है, वहीं कुछ निजी फोर व्हील ड्राइव वाहन चालक यहां अवैध रूप से सैलानियोें को स्नो प्वाइंट्स पर पहुंचा रहे हैं। ऐसे में एक तरफ मनाली के टैक्सी आपरेटरों के लिए निजी वाहन चालक सिरदर्द बने हुए हैं, वहीं उनका काम भी प्रभावित हो रहा है। लिहाजा मनाली के टैक्सी आपरेटरों ने इसकी शिकायत मनाली पुलिस से कर डाली है। यहां बता दें कि इन दिनों जहां सोलंगनाला बर्फ से पूरी तरह पैक है, वहीं  फोर व्हील ड्राइव वाहनों के माध्यम से ही यहां पहुंचा जा सकता है। हालांकि प्रशासन ने फिलहाल सोलंगनाला सैलानियों के लिए बहाल नहीं किया है, लेकिन फिर भी कुछ निजी वाहन चालक सैलानियों को अवैध रूप से सोलंगनाल पहुंचा रहे हैं। यह निजी वाहन चालक सैलानियों को नेहरू कुंड से आगे टैक्सियों के रूप में सेवाएं दे रहे हैं। यही नहीं, निजी वाहन चालक सैलानियों से भारी भरकम किराया भी वसूल रहे हैं, जिससे मनाली के टैक्सी आपरेटरों की छवी खराब हो रही है। लिहाजा टैक्सी आपरेटरों ने अब इन निजी वाहन चालकों पर कार्रवाई की मांग पुलिस प्रशासन से कर डाली है।  मनाली में 200 के लगभग निजी जिप्सियां टैक्सियों का काम कर रही हैं। निजी वाहन चालक नेहरूकुंड से सैलानियों को मनमाने दाम पर सोलंगनाला तक ले जा रहे हैं।  मनाली पुलिस ने नेहरूकुंड में बेरियर तो लगाया है, लेकिन निजी वाहन चालक सैलानियों को गाडि़यों में बैठा उनसे मनमर्जी के दाम वसूल उन्हें सोलंगनाला पहुंचा रहे हैं। मनाली के टैक्सी आपरेटर इस बात से निराश है तथा पुलिस व प्रशासन से खफा भी हैं। हिम आंचल टैक्सी यूनियन मनाली के प्रधान गुप्त राम ठाकुर ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में मनाली पुलिस में शिकायत भी की है, लेकिन फिर भी निजी वाहन चालक सैलानियों को अवैध रूप से सोलंगनाला ले जा रहे हैं। उन्होंने प्रशासन से आग्रह किया कि इन निजी वाहन चालकों पर कड़ी करवाई अमल में लाई जाए अन्यथा टैक्सी आपरेटर सड़कों पर उतरने को विवश होंगे। डीएसपी मनाली शेर सिंह ने बताया कि पुलिस निजी वाहन चालकों के चालान काट रही है। उन्होंने कहा कि खराब मौसम को ध्यान में रख फिलहाल सोलंगनाला का रास्ता सैलानियों के लिए सुरक्षित नहीं है।