Wednesday, December 19, 2018 12:45 PM

नॉलेज पार्टनर के लिए होंगे टेंडर

10 को धर्मशाला में सीआईआई से समझौता करेगी राज्य सरकार

शिमला -उद्योग पॉलिसी में संशोधन के सुझाव देने वाली निजी कंपनी को चुनने के लिए विभाग टेंडर करने जा रहा है। सूत्रों के अनुसार उद्योग विभाग इस टेंडर, जिसे रिक्वेस्ट फॉर प्रोपोजल कहा जाता है के लिए 21 दिन का समय देगा। इन दिनों में कंपनियां अपना आवेदन करेंगी और इसके साथ ही चयन कर दिया जाएगा। इस कंपनी को नॉलेज पार्टनर कहा जाएगा, जिसकी मदद से यहां पर निवेश को रिझाने की कोशिशें होंगी। न केवल नॉलेज पार्टनर, बल्कि सीआईआई के साथ सरकार समझौता करने जा रही है। कनफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) के साथ समझौता धर्मशाला में 10 दिसंबर को किया जाएगा। यहां इसी दिन से विधानसभा का शीतकालीन सत्र भी शुरू होने जा रहा है और इससे पहले सरकार इन्वेस्टर मीट के लिए सीआईआई से समझौता करेगी। उद्योगोें की यह संस्था सरकार की नेशनल पार्टनर बन रही है, जो कि हिमाचल में अलग-अलग क्षेत्रों में निवेश लाएगी। सरकार ने इन्वेस्टर मीट के लिए 80 हजार करोड़ का टारगेट रखा है। साथ ही सभी क्षेत्रों में निवेश का खुला आमंत्रण है। सरकार यहां उद्योगों के माफिक पालिसी में संशोधन करने के साथ कई दूसरे परिवर्तन करने जा रही है। पहले नॉलेज पार्टनर बनाने के लिए एक कंपनी का नाम सामने आ रहा था, मगर अब इसमें टेंडर करने को कहा गया है, ताकि और कंपनियां भी प्रतिस्पर्धा में आगे आएं। सरकार इस मामले में कोई कमी नहीं रखना चाहता और यही वजह है कि विशेष तौर पर अधिकारियों को इस काम में लगाया गया है।

जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत  मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!