Monday, June 24, 2019 05:35 PM

नौजवानों ने कही अपने मन की बात

प्रदेश में किसी भी सेक्टर में मौका मिले तो हमारे युवा बदलाव लाने के लिए तैयार हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य सहित अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में काम करने का मौका मिले तो बेहतर परिवर्तन लाने का संकल्प ले रहे हैं। ‘दिव्य हिमाचल की हिमाचल फोरम’ पहल के तहत शिमला के इन युवाओं ने हुंकार भरते हुए कहा कि मौका मिले को बदल देंगे पूरी व्यवस्था

      मोनिका बंसल,शिमला

स्वास्थ्य विभाग को राजनीति से रखूंगा दूर

मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव राहुल शर्मा ने कहा कि उन्हें एक मौका मिले, तो वह स्वासथ्य के क्षेत्रों को राजनीति से दूर करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में बेहतर परिवर्तन और बदलाव लाने के लिए पहला कदम यही होगा कि इसे राजनीति से दूर रखा जाए। राहुल शर्मा का कहना है कि मरीजों को गुणवत्तायुक्त दवाएं उपलब्ध करवाने के लिए सरकार को सख्त कदम उठाने की जरूरत है।

आर्थिक रूप से मजबूती में होगा बदलाव

निजी क्षेत्र में अपना नाम कमा रहे धर्मेंद्र शर्मा का कहना है कि उन्हें एक बार मौका मिले तो वे युवाओं को आर्थिक रूप से सशक्त होने के लिए बेहतर बदलाव करना चाहेंगे। उन्होंने कहा कि हिमाचल जैसे कृषि प्रदान राज्य में युवाओं के लिए बेहतर से बेहतर योजनाएं लाएंगे। धर्मेंद्र शर्मा का कहना है कि इसके साथ-साथ महिलाओं की सुरक्षा के लिए मास्टर प्लान तैयार करेंगे।

अर्थव्यवस्था प्रणाली में लाएंगे परिवर्तन

एकाउंटेंट वीरेंद्र ठाकुर का कहना है कि उन्हें एक मौका मिले, तो राज्य की अर्थव्यवस्था प्रणाली में बदलाव लाएंगे। मेहनतकश किसानों-बागबानों को समुचित लाभ मिले, इसके लिए अर्थव्यवस्था प्रणाली में भी बदलाव लाने की जरूरत है।

शिक्षा की गुणवत्ता के लिए नया रास्ता चुनेंगे

हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी में एमएससी के छात्र हरीश बंसल का कहना है कि उन्हें  एक मौका मिले, तो वे शिक्षा प्रणाली में बेहतर सुधार लाएंगे। खास कर शिक्षा की गुणात्तम सुधार के लिए बेसट पॉलिसी लाएंगे। उन्होंने कहा कि हालांकि प्रदेश में जो भी सरकार आती है वह शिक्षा के क्षेत्रों में बेहतर विकास कर रही है, लेकिन शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने में किसी ने ध्यान नहीं दिया।

युवाओं के लिए स्पोर्ट्स पॉलिसी लाएंगे

युवाओं को स्पोर्ट्स से जोड़ने के लिए कार्तिक चंदेल बेहतर बदलाव लाने की बयार कर रहे हैं। चंदेल ने कहा कि उन्हें एक मौका मिले, तो वह युवाओं को खेल से जोड़ेंगे और नशे से दूर करवाएंगे, ताकि प्रदेश पूरी तरह से नशामुक्त हो सके। कार्तिक चंदेल का कहना है कि आज तक प्रदेश में युवाओं को सीधा खेल से नहीं जोड़ा गया। जिस कारण युवा नशे की चपेट में आ रहे हैं।