Monday, September 16, 2019 07:35 PM

नौणी विवि के कुलपति ने किया केवीके कंडाघाट का दौरा

 नौणी। डा. वाईएस परमार बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी के कुलपति डा. परविंदर कौशल ने मंगलवार को विश्वविद्यालय के कंडाघाट स्थित कृषि विज्ञान केंद्र (केवीके) और जदारी फार्म का दौरा किया। इस अवसर पर उन्होनें कृषक समुदाय के लिए गुणवत्ता रोपण सामग्री की पर्याप्त संख्या उपलब्ध करने की दिशा में काम करने के लिए विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों को प्रयास करने के लिए कहा। विश्वविद्यालय की निदेशक अनुसंधान डा. जेएन शर्मा और निदेशक विस्तार शिक्षा डा. राकेश गुप्ता इस मौके पर मौजूद रहे। डा. कौशल ने केवीके में सेब, खुरमानी, कीवी, आड़ू, प्लम के बागानों सहित सब्जियों और फूलों की खेती का निरीक्षण किया। केवीके प्रभारी डा. एचआर शर्मा और स्टेशन के वैज्ञानिकों और कर्मचारियों के साथ बातचीत करते हुए डा. कौशल ने केंद्र पर उपलब्ध भूमि का अधिकतम क्षेत्र फलों, सब्जियों और फूलों की खेती और शोध के लिए इस्तेमाल में लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि विश्वविद्यालय ने अपने द्वारा तैयार रोपण सामग्री की मात्रा बढ़ाने के लिए प्रयास करें ताकि विश्वविद्यालय द्वारा गुणवत्ता वाले पौधों की आपूर्ति से कृषक समुदाय लाभान्वित हो सकें। शोध के विषय में डा. कौशल ने वैज्ञानिकों को पिछले 15 वर्षों में खुरमानी की आयात की गई उपयुक्त किस्मों की पहचान और मूल्यांकन करने और टमाटर, शिमला मिर्च और खीरे की संकर किस्मों को विकसित करने की ओर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा