Tuesday, March 31, 2020 06:09 PM

नौतोड़ देना हमारी पहली प्राथमिकता

जनजातीय सलाहकार परिषद की बैठक अब तक की बेस्ट, सूरत नगी को बड़ी उम्मीदें

रिकांगपिओ -प्रदेश स्तर पर मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई जनजातीय सलाहकार परिषद की बैठक अब तक का बेस्ट बैठक के रूप में हुई है। परिषद की बैठक में मुख्यमंत्री ने जनजातीय मुद्दों को प्रमुखता से सुना व हर मुद्दों को समाधान करने का भी पूरा आश्वासन  दिया। यह बात प्रदेश वन निगम उपाध्यक्ष सूरत नेगी ने रिकांगपिओ में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा। नेगी ने बताया कि जनजातीय सलाकार परिषद की बैठक में किन्नौर का सब से ज्वलंत मुद्दा नौतोड़ मामला पर चर्चा की गई। बैठक में कहा गया कि भाजपा ने किन्नौर के लोगों को नौतोड़ देने का वादा किया है। जिसे हर हाल में पूरा किया जाएगा। मेरी प्राथमिकता है कि किन्नौर के लोगों को बीना कंडीशन के नौतोड़ मिले। उन्होंने कहा कि किन्नौर के विधायक जगत सिंह नेगी का भी जनजातीय सलाकार परिषद की बैठक में कुछ मुद्दे थे। जिस में से एक सूरत नेगी के पास लाभ का पद होने के चलते वन निगम उपाध्यक्ष सूरत नेगी को जनजातीय सलाहकार परिषद के सदस्य से बाहर करना। उन्होंने बताया कि जिस समय मुझे जनजातीय सलाहकार परिषद का सदस्य बनाया गया था तब मैं किसी भी लाभ के पद पर नहीं था। इसलिए उन के इस तर्क में कोई दम नहीं है। वैसे भी किन्नौर के विधायक सरकारी बैठकों में अड़ंगा डालने का ही काम करते है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार जिला के सभी 65 पंचायतों में समान दृष्टि से विकास कर रही है जो कांग्रेस के नेताओं को हजम नही हो रहा। कुछ एक तो किन्नौर में हो रहे विकास को देख परेशान है। उन्होंने बताया कि इन दिनों कुछ लोग मुझे छूट भैया नेता कह कर संबोधित कर रहे हैं उस से मुझे कोई फर्क भी नही पड़ता। मेरी प्राथमिकता किन्नौर का विकास करना है। लेकिन मैं उन से यह पूछना चाहता हूं जो कई वर्षो तक किन्नौर का प्रतिनिधित्व रहने के बाद भी आज दिन तक नोटोड मामले को क्यों नही सुलजा पाए। इस दौरान उन के साथ भाजपा जिला अध्यक्ष संजीव हारा,  कल्पा मंडल अध्यक्ष परविंदर नेगी, पूह मंडल अध्यक्ष के नेगी, मीडिया प्रभारी सुशील मेहता, उपाध्यक्ष हक्कीम नेगी, महिला मोर्चा अध्यक्षा देव ऋषि कार्यालय सचिव कृष्ण गोपाल नेगी, युवा मोर्चा अध्यक्ष सुनील नेगी, एससी मोर्चा अध्यक्ष यशवंत नेगी, एसटी मोर्चा अध्यक्ष मदन नेगी सहित कई पार्टी पदाधिकारी मौजूद थे।