Monday, April 06, 2020 04:24 PM

नौहराधार, हरिपुरधार में सैलानियों से बढ़ी रौनक

मौसम के बदलते ही लोगों ने ली राहत की सांस, कारोबारियों व बागबानों के चेहरे खिले

नौहराधार - गिरिपार क्षेत्र के उंचाई वाले क्षेत्रों में मौसम के बदलते ही जहां आम जनमानस ने राहत की सांस ली है, वहीं सैलानियों की चहलकदमी अब क्षेत्रों में बढ़ने लगी है। जिसके चलते पर्यटन कारोबारियों समेत आम व्यापारियों के चेहरों पर रौनक लौट आई है क्योंकि इस वर्ष क्षेत्रों में अत्यधिक बर्फबारी व ठंड से व्यापारियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा था। दिसंबर से लेकर फरवरी के पहले सप्ताह तक मौसम खराब रहने से अधिकतर व्यापारियों की दुकाने व होटल, रेस्तरां बंद रहे थे। दस दिन पहले क्षेत्रों का अधिकतम तापमान आठ से नौ डिग्री जब कि न्यूनतम तापमान माइनस दो से तीन डिग्री था। मगर एकाएक शनिवार को तापमान में भारी उछाल आया था शनिवार को अधिकतम तापमान 22 डिग्री व न्यूनतम पांच डिग्री तापमान दर्ज किया गया मगर रविवार को उंचाई वाले क्षेत्रों में ठंडी हवाओं के चलते तापमान घटकर अधिकतम तापमान 16 डिग्री व न्यूनतम तापमान दो डिग्री रहा। धूप खिलने से जहां गर्माहट बढ़ गई है वहीं तापमान भी काफी बढ़ने लगा है। ऐसे मौसम को देखते हुए किसानों ने आलू की तैयारियों में जुट चुके है। बागबान अपने अपने फलदार बागीचों में काम करते हुए देखे गए है। अधिकतर बागबानों ने अपने बागीचों में प्रूनिंग, दवाइयों, खाद गोबर का कार्य खत्म होने वाला है । अनुकूल मौसम का फायदा लेते हुए किसानों ने अपनी नकदी फसलें लहसुन, आलू व मटर गुड़ाई व लगाने के कार्यों में जुट चुके है। उधर हिल स्टेशन नौहराधार, हरिपुरधार में अभी भी बर्फ  की मोटी चादर बिछी हुई है यहां पर सैलानी आने शुरू हो चुके हैं। मौसम विभाग के अनुसार 20 फरवरी से क्षेत्रों में फिर से बर्फबारी व बारिश के आसार हो सकते है। इस बार क्षेत्रों में काफी बर्फबारी हुई है निसंदेह इस बार नौहराधार, हरिपुरधार व चूड़धार में सैलानियों को लंबे समय तक बर्फ  देखने को मिल सकती है। पर्यटन कारोबारी आजिंद्र पुंडीर, रणविजय चौहान, मनोज वर्मा,जितेंद्र सिंह, सतीश शर्मा, हिरा सिंह ठाकुर का कहना है कि इस बार दिसंबर से लेकर फरवरी तक हुई बर्फबारी के चलते पर्यटकों के न आने से काफी नुकसान उठाना पड़ा मगर मौसम बदलने के बाद सेलानियों की चलकदमी में बढ़ोतरी दर्ज की गई है।