Monday, September 23, 2019 01:46 AM

न्यूगल खड्ड उफान पर, बनने से पहले फिर उजड़ा सौरभ वन विहार

पालमपुर पर बरसात ने दोबारा छिड़क दिया जख्मों पर नमक

पालमपुर- धौलाधार की पहाडि़यों पर शनिवार सुबह हुई मूसलाधार बारिश के चलते पालमपुर की न्यूगल खड्ड उफान पर आ गई। हालात देखते हुए धौलाधार पर्वत श्रृंखला के ऊंचाई वाले इलाके में बादल फटने की आशंका जताई जा रही थी। न्यूगल में बढ़ा जलस्तर देखते हुए प्रशासन ने लोगों को खड्डों से दूर रहने की सलाह दी। वहीं, भारी बारिश में एक पावर प्रोजेक्ट में फंसे करीब छह लोगों को भी सुरक्षित बाहर निकाला गया। मूसलाधार बारिश के बाद न्यूगल खड्ड में बढ़े पानी ने एक बार फिर सौरभ वन विहार का रुख किया और पिछले साल सितंबर में भारी बारिश से मिले जख्मों पर मानो नमक छिड़क दिया। गत वर्ष सितंबर में न्यूगल में बढ़े पानी के बहाव ने सौरभ वन विहार में भारी तबाही मचाई थी और सब कुछ तहस-नहस कर दिया था। सौरभ वन विहार में करोड़ों का नुकसान हुआ था और पालमपुर के प्रमुख पर्यटन स्थल के भविष्य पर प्रश्नचिन्ह लग गया था। हालांकि उसके बाद सौरभ वन विहार को फिर पुराने स्वरूप में लाए जाने के प्रयास शुरू किए गए थे और इसके लिए धनराशि भी मंजूर की गई थी। सौरभ वन विहार की कृत्रिम झील में भरी गाद निकाली जाना था और रिटेनिंग वॉल लगाए जाने की बात कही गई थी। यह काम अभी शुरू भी नहीं हो पाया था कि न्यूगल खड्ड के पानी ने एक बार फिर सौरभ वन विहार को गहरे जख्म दे दिए। वहीं, शनिवार को दिन भर जारी रही बारिश से क्षेत्र की तमाम खड्डों में पानी का जलस्तर काफी बढ़ गया है और प्रशासन ने लोगों को खड्डों से दूर रहने व एहतियात बरतने को कहा है। गौर रहे कि पिछले साल सितंबर में बने ऐसे हालातों के बीच दो लोग सौरभ वन विहार में फंस गए थे, जिन्हें काफी मुश्किल के बाद निकाला जा सका था। एसडीएम पालमपुर पंकज शर्मा ने कहा कि धौलाधार के उंचाई वाले क्षेत्र में बादल फटने जैसी घटना से न्यूगल खड्ड का जलस्तर बढ़ गया। पावर प्रोजेक्ट में फंसे कर्मियों को सकुशल निकाल लिया गया है।

...और प्रोजेक्ट के  छह कर्मचारी फंसे

सूचना मिलते ही तहसीलदार वेद प्रकाश व पुलिस अधीक्षक अमित शर्मा सहित फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंच गई थी। हालांकि जानमाल का कोई भी नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन ओम हाइडल प्रोजेक्ट में छह कर्मचारी अचानक न्यूगल नदी में बाढ़ आने के कारण अंदर फंस गए थे। प्रशासन ने रेस्क्यू के दौरान इन सभी कर्मचारियों को सकुशल घटनास्थल से बाहर निकाल लिया है।